Home / अध्यात्म / नवरात्रि के पहले लखनऊ के मन्दिरों में लगी भक्तों की लम्बी कतारें…

नवरात्रि के पहले लखनऊ के मन्दिरों में लगी भक्तों की लम्बी कतारें…

लखनऊ: शारदीय नवरात्र के पहले दिन बुधवार को घरों से लेकर मंदिरों तक में कलश स्थापना के साथ मां का पूजन-अर्चन शुरू हो गया। पहले दिन मां शैलपुत्री का पूजन किया गया।

इस बार नवरात्र पूरे नौ दिन के हैं। शहर में जगह-जगह दुर्गा पूजा पंडाल भी सजाए गए हैं। अलीगंज के नए हनुमान मंदिर, डालीगंज मंदिर सहित कई जगह मां की मूर्तियां स्थापित कर पूजन-अर्चन किया गया।

कालीजी मंदिर

चौक स्थित बड़ी कालीजी मंदिर में माता के दरबार को मखानों से सजाया गया। सुबह पंडित शक्तिदीन अवस्थी के मार्गदर्शन में कलश स्थापना के बाद आरती हुई। मंदिर के कपाट सूर्यादय से पहले ही खुल गए थे। तड़के चार बजे से ही भक्त दर्शन के लिए पहुंचने लगे थे। दिन चढ़ने के साथ-साथ मंदिर मार्ग पर लगने वाली मेले की रौनक भी बढ़ती गई।

कालीबाड़ी मंदिर

कैसरबाग घसियारी मंडी स्थित कालीबाड़ी मंदिर में पुजारी अमित गोस्वामी ने सुबह 7 बजे घट स्थापना की। इसके बाद मंदिर के वरिष्ठ सचिव डॉ. प्रभात कुमार मैती, अध्यक्ष गौतम भट`टाचार्य की उपस्थिति में विभिन्न अनुष्ठान हुए। मंदिर का 155 वां स्थापना वर्ष होने के चलते 2100 गुब्बारों से सजावट की गई।

पिंडी पूजन संग बही भक्तिधारा

बीकेटी स्थित 51 शक्तिपीठ तीर्थ धाम में आचार्य धनंजय पांडेय ने कलश स्थापना की। पहले दिन पिंडी पूजन वरद तिवारी और तृप्ति तिवारी ने किया। संस्थापक रघुराज दीक्षित के अनुसार नवरात्र के दौरान नियमित रूप से दुर्गा सप्तसती का पाठ होगा। पहले दिन मां का निलाम्बर शृंगारगार हुआ।

इसके साथ ही संदोहन देवी मंदिर संकटा देवी मंदिर, कमाख्या माता मंदिर, संतोषी माता मंदिर, शास्त्रीनगर स्थित दुर्गा मंदिर में भी भव्य शृंगार संग पूजन किया गया। वहीं, डालीगंज के ठठेरी बाजार स्थित श्री जय मां दुर्गा मंदिर में दुर्गा पूजा उत्सव पर मूर्ति स्थापना हुई।

अलीगंज नए हनुमान मंदिर में स्थापित हुईं मूर्तियां

अलीगंज के नए हनुमान मंदिर में नवरात्र पर मां की नौ फुट ऊंची मूर्ति के साथ लक्ष्मी, गणेश, कार्तिकेय की मूर्तियां भी स्थापित की गईं। इस मौके पर दुर्गा सप्तशती का पाठ किया गया। हवन पूजन के बाद प्रसाद के रूप में फल, हलुआ और बर्फी बांटी गई।

=>
loading...

Check Also

ब्राह्मण क्यों नहीं खाते लहसुन और प्याज, वजह कर देगी हैरान…

आप सभी को बता दें कि भारत देश एक ऐसा देश है जहां पर कई …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com