Friday , July 30 2021
Breaking News

बेरोजगार मुसलमान पैदा न करे बच्चे: आजम खान

azam-khan_650_081214020005समाजवादी पार्टी नेता आजम खान ने मुस्लिमों की जनसंख्या को लेकर विवादास्पद बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम इसलिए ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं क्योंकि वो बेरोजगार हैं। आजम ने यह बात उत्तर प्रदेश के कन्नौज में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा, “मुस्लिम ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं क्योंकि वह बेरोजगार हैं और उनके पास करने को कुछ काम नहीं है।” उन्होंने आगे कहा, “अगर मुस्लिमों को काम मिल जाएगा तब वो ऐसा नहीं करेंगे।”

दरअसल, आजम खान रोगजार की कमी पर अपनी बात कह रहे थे और बोले- बादशाह (पीएम मोदी) अगर करने के लिए कोई काम देता तो मुसलमान कम बच्चे पैदा करता। वह बोले- हमारे यहां आबादी अधिक होती है और काम कम, यही कारण है कि अधिक बच्चे पैदा हो जाते हैं। वह बोले अगर मुसलमान खाली बैठेगा तो बच्चे ही पैदा करेगा। अपनी बात आगे बढ़ाते हुए आजम खान ने कहा कि हिंदू अधिक बच्चे पैदा नहीं करते हैं, क्योंकि उनके पास रोजगार है और वह काम करते हैं।

आजम खान के इस बयान को भारतीय जनता पार्टी के सांसद साक्षी महाराज के उस बयान के जवाब के तौर पर देखा जा रहा है जिसमें साक्षी महाराज ने देश की बढ़ती जनसंख्या के लिए मुस्लिमों को जिम्मेदार ठहराया था। साक्षी महाराज ने कहा था, “जनसंख्या में लगातार इजाफा हो रहा है और यह देश की एक बड़ी समस्या है। लेकिन हिन्दू इसके जिम्मेदार नहीं है। इसके लिए 4 पत्नी और 40 बच्चों की बात करने वाले लोग जिम्मेदार हैं।”

आजम खान ने PM मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि 2 साल के कार्यकाल में प्रधानमंत्री ने 80 करोड़ रुपये के कपड़े पहने। वह खुद को फकीर कहते हैं लेकिन फकीर इतने महंगे कपड़े नहीं पहनता। जिस देश का PM इतने महंगे कपड़े पहनेगा तो वह हिंदुस्तान कैसा होगा। उन्होंने BJP अध्यक्ष अमित शाह को ’15 लाख’ वाले बयान को जुमला बताने पर निशाना साधते हुए कहा, ‘बादशाह ने हसीन ख्वाब दिखाया, लफ्फाजी की और बड़े सिर वाले (अमित शाह) ने कहा कि राजा ने मजाक किया था।’

साथ ही आजम ने दावा किया कि एक बार हमें गद्दी देकर देखो, हम सबको 15 की जगह 25-25 लाख रुपये देंगे। देश आज भी सोने की चिड़िया है, यहां पैसे की कमी नहीं है। 25-25 लाख देकर भी देश सोने की चिड़िया बना रहेगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *