Top
Pradesh Jagran

प्रधानमंत्री को रावण, चील और कौवे की संज्ञा देना गलत : अमर

प्रधानमंत्री को रावण, चील और कौवे की संज्ञा देना गलत : अमर
X

amar_650_030514105021राज्य सभा सांसद अमर सिंह ने गुरुवार को कहा कि अबू आसिम आजमी और गायत्री प्रजापति जैसे लोग आज सपा में हैं, जबकि पार्टी ने उनको वनवास दे दिया है। कहा कि प्रधानमंत्री को रावण, चील और कौवे की संज्ञा देना गलत है।

कहा कि उत्तर प्रदेश का विकास पूर्वांचल राज्य बनने पर ही होगा। तरवां स्थित पैतृक आवास पर सांसद अमर सिंह पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में बाबा गोरखनाथ के दर्शन करने और सांसद महंत आदित्य नाथ से मिलने के बाद सड़क मार्ग से आया हूं।इस दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के – काम बोलता है… नारे का सच देखा। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे मिले। लखनऊ में मेट्रो बन गई, चली नहीं। सड़क बन गई, दिखी नहीं, अभी गोरखपुर से काम देखता आ रहा हूं, काम नहीं कारनामा बोल रहा है। कहा कि रामायण और महाभारत जीवन दर्शन हैं।

इसके पात्र गायत्री प्रजापति, अरुण वर्मा के रूप में हैं। भारत माता को डायन कहने वाले अखिलेश के खास हैं। कहा कि सपा के कुछ नेताओं के संबंध आतंकियों से हैं। राहुल कहते हैं कि प्रधानमंत्री रिश्ता बनाते हैं, उसे निभाना नहीं जानते। पूरा देश जानता है कि मैंने परमाणु करार पर कांग्रेस की सरकार बनवाई।

उनकी दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और केंद्र के मनमोहन और चिदंबरम ने मुझे जेल भेज दिया। क्या इसी को रिश्ता निभाना कहते हैं। करुणानिधि, नीतीश, ममता बनर्जी भाजपा के साथ थे तो सांप्रदायिक कहे जाते थे, कांग्रेस के साथ आए तो सेकुलर कहा जाता है।

कहा कि नोटबंदी से सिर्फ अथाह धन जमा करने वालों को परेशानी हुई, आम लोगों को नहीं। प्रधानमंत्री का यह फैसला सही है। उन्होंने भाजपा का नाम न लेते हुए कहा कि आप सभी जातिवाद से ऊपर उठकर राष्ट्रवाद को बढ़ाएं।

भाजपा में जाने के सवाल पर कहा कि मुलायम सिंह यादव इटावा में कह चुके हैं कि 250 सीटें भाजपा को मिल सकती हैं तो मैं अब तक उनकी बात नहीं काट सका हूं। मैं मुलायम सिंह यादव का सम्मान करता हूं। वे अनुभवी हैं और जो कहते हैं, सही कहते हैं।

Next Story
Share it