Breaking News

गौसेवा के लिए छोड़ी AIMS की अफ़सर की जॉब,बनीं रूरल एंटरप्रेन्योर

कुम्हरी/छतीसगढ़: सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें एक व्यक्ति मोटरसाइकिल पर दूध बेचता दिख रहा है,इस तस्वीर पर लोग खूब कमेंट भी कर रहे हैं।सुरभि गौशाला कुम्हारी छत्तीसगढ़ का बोर्ड लगा है,मोटरसाइकिल पर सवार एक व्यक्ति दूध बेच रहा है।

इस तस्वीर को आईएएस अवनीश शरण ने अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है.तस्वीर शेयर करते ही यूज़र्स के ढेरों कमेंट आने लगे.

जब हमने वायरल तस्वीर की पड़ताल की तो एक बहुत बहुत अच्छी और प्रेरक कहानी सामने आयी.

जानें क्या है सच्चाई

तस्वीर पर जो सुरभि गौशाला लिखा दिख रहा है वो सुरभि गौशाला छत्तीसगढ़ की एक महिला रेनू गोस्वामी चलाती हैं और गौ सेवा के साथ कमाई भी कर रहीं हैं।

कौन हैं रेनू ?

आपको बता दें,मूलतः उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले की रहने वाली रेनू रायपुर एम्स में 7 साल अकाउंट अफसर के पद पर कार्यरत थीं. बचपन से ही छत्तीसगढ़ में रही है और वहीं से उन्होंने अपनी पढ़ाई भी पूरी की है। रेनू एमकॉम में यूनिवर्सिटी टॉपर रह चुकी है।

कुछ यूं हुई गौशाला की शुरुवात

जब हमने रेनू से बात की गौशाला के बारे में तो उन्होंने बताया कि जब उनकी बच्ची का जन्म हुआ तो कहीं अच्छा और शुद्ध दूध नहीं मिल रहा था। उन्हें बच्ची के दूध के लिए ऑफीस के बाद काफी दौड़ भाग करनी पड़ती थी। इस समस्या के कईं उन्होंने गाय पालने की सोची. फिर रेनू ने इस समस्या पर काम करने की ठानी और जॉब से इस्तीफ़ा दे दिया। हालांकि उनके इस निर्णय को लोगों ने पागलपन भी कहा, परंतु लोगों की बातों की परवाह किए बग़ैर उन्होंने अपनी गौवंशों की सेवा जारी रखी।

बातचीत में रेनू ने बताया कि “मेरी जगह जॉब लेने के लिए 10 लोग थे लेकिन मेरे पीछे कोई नहीं है,जो इन गौ माताओं की सेवा करना चाहे । रेनू कहना का है कि अगर आज हम यह पागलपन नहीं करेंगे,तो हम अपने बच्चों को फोटो में दिखाएंगे कि ये गौ माता है।”

आज सुरभि गौशाला में तमाम तरह की 40 से अधिक गायें हैं। आज रेनू किंसुरभी गौशाला के शुद्ध दूध तमाम जगहों तक लोगों को उपलब्ध हैं। यही नहीं गौशाला में निकलने वाले गोबर से तमाम तरह की वस्तुएं भी पूरे देश में सप्लाई की जाती हैं।
रिपोर्ट – अभिषेक कुमार तिवारी