Breaking News
Donate Now

दिल्ली विधानसभा चुनाव : थम गया प्रचार का शोर, शनिवार को मतदान

 

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के प्रचार का शोर गुरुवार शाम छह बजे थम गया। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन गुरुवार को सभी उम्मीदवारों ने प्रचार-प्रसार में अपनी ताकत झोंक दी और दिनभर प्रचार गाड़ियां सड़कों पर दौड़ती रहीं। देश की राजधानी में नई सरकार चुनने के लिए मतदाता तैयार हैं। शनिवार (आठ फरवरी) सुबह आठ से शाम छह बजे तक मतदान होगा।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के मुताबिक पूरी दिल्ली में 2688 मतदान केंद्रों पर 13,750 बूथ बनाये गए हैं। इनमें 516 मतदान केंद्र अति संवेदनशील हैं। इस बार कुल मतदाताओं की संख्या 1,47,86,382 हैं। इसमें 81,05,236 पुरुष, 66,80,277 महिला एवं 869 थर्ड जेंडर मतदाता शामिल हैं। इनमें 80 वर्ष से अधिक आयु वाले 2,04,830 मतदाता हैं। नए मतदाताओं की संख्या 2,32,815 है, जो 18 से 19 वर्ष के हैं। दिव्यांग मतदाओं की संख्या 5,04,73 है। दिव्यांग मतदाओं की मदद के लिए 9997 वॉलेंटियर नियुक्त किये गए हैं। ग्रेटर कैलाश के चितरंजन पार्क निवासी 110 साल की कालीतारा मंडल सबसे बुजुर्ग मतदाता हैं। सबसे अधिक मतदाताओं वाली विधानसभा सीट मटियाला है, जहां 4,23,682 मतदाता हैं। सबसे कम मतदाताओं वाली सीट चांदनी चौक है, जहां 1,25,684 मतदाता हैं। मतों की गणना 11 फरवरी को होगी और नतीजे भी उसी दिन आ जाएंगे।

शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए मतदान केंद्रों पर 42 हजार दिल्ली पुलिस के जवान तैनात किये जाएंगे। जबकि 19 हजार होमगार्ड्स की तैनाती की गई है। इस बार 190 अर्धसैनिक बलों की कंपनियों को बुलाया गया है। अतिसंवेदनशील बूथों पर अर्धसैनिक बलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। मतदान के मद्देनजर मेट्रो और बस सेवाएं शुक्रवार सुबह चार बजे से शुरू कर दी जाएंगी।

error: Content is protected !!