Top
Pradesh Jagran

दिन दहाड़े सर्राफा व्यवसाई के घर पड़ी डकैती, लाखों की लूट

दिन दहाड़े सर्राफा व्यवसाई के घर पड़ी डकैती, लाखों की लूट
X

लखीमपुर-खीरी/देव श्रीवास्तव:सर्राफा व्यवसाई के घर महिलाओं की मौजूदगी का फायदा उठाकर दिनदहाड़े आधा दर्जन सशस्त्र बदमाश घुस गए। महिलाओं को बंधक बनाकर उन्हें मारा-पीटा और करीब एक लाख के आभूषण व नकदी लूट ली। शोरगुल होने पर आस-पड़ोसी पहुंचे तो बदमाश वहां से भागने लगे। लोगों ने हिम्मत दिखाई और एक बदमाश को धर दबोचा। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पकड़े गए बदमाश को हिरासत में ले लिया।

IMG-20170322-WA0074

सदर कोतवाली की घटना

सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला संकटा देवी निवासी सर्राफा व्यवसाई उमेश चन्द्र गुप्ता के घर बुधवार दोपहर करीब दो बजे जब घर पर सिर्फ महिलाएं थी, उसी वक्त बदमाश मौके का फायदा उठाकर घर में घुस गए। बदमाशों ने महिलाओं को तमंचे की नोक पर बंधक बना लिया और उनसे उनके गहने छीनने लगे। महिलाओं ने विरोध किया तब बदमाशों ने उन्हें मारा-पीटा। शोरगुल हुआ तो आस-पड़ोसी घर तक पहुंचे जिसके बाद बदमाश वहां से भाग निकले।लोगों ने बदमाशों को दौड़ाया और लकी गुप्ता द्वारा एक बदमाश को पकड़ लिया गया।बदमाश ने अपने बचाव में फायरिंग भी की, तब तक मोहल्ले के और लोग भी वहां पहुंच गए।

मोहल्ले वालों के मिलकर पकड़ा

पुलिस को सूचना दी गयी तो मौके पर पहुंची पुलिस ने पकड़े गए बदमाश को हिरासत में ले लिया। इसी दौरान सूचना पर अपने घर सर्राफा व्यवसाई उमेश चन्द्र गुप्ता अपने पुत्र सोनू के साथ अपने घर पहुंच गए। उन्होंने बताया कि बदमाशों द्वारा परिवार की महिलाओं से सोनू का एक मंगलसूत्र, एक हार, कान के टाप्स, बूंदे व कुछ नगदी छीनी गई है। पीडि़त द्वारा कोतवाली पुलिस को तहरीर दी गई है जिसे आधार बनाकर पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर पकड़े गए बदमाश से पूछताछ शुरू कर दी है।

IMG-20170322-WA0076

दस साल के बच्चे की समझदारी आई काम

दिनदहाड़े हुई इस डकैती का खुलासा अगर पुलिस कर लेती है तो उसमें मोहल्ले के दस वर्षीय रिषभ गुप्ता का बड़ा योगदान माना जाएगा। लूटपाट कर रहे बदमाशों को शायद यह नहीं पता है कि उनकी इस करतूत को एक साल का बच्चा सबके सामने ले आएगा। लूटपाट के दौरान ही रिषभ अपनी छत पर खेलने आया था और उसने चल रही घटना को भांप लिया और अपने बड़े भाई को जानकारी दी। बस फिर क्या था यह जानकारी मोहल्ले के कई लोगों तक पहुंच गई और लोग घरों से बाहर निकलने लगे। जिस कारण बदमाशों को वहां से भागना पड़ा।

पकड़ा गया चन्नी है सरगना

डकैती की इस घटना में जिस बदमाश को लोगों ने पकड़ा है वह छोटा-मोटा बदमाश नहीं है। गिरोह का सरगना होने के साथ ही उस पर जिले में अपहरण, लूट, डकैती, आटोलिफ्टिंग जैसे कईअपराधिक मुकदमे दर्ज है। चन्नी ही वह बदमाश है जिसने चन्दनचौकी क्षेत्र में तीन बहनों का अपहरण किया था। चन्नी के शातिर होने का पता इसी बात से चलता है कि तमाम घटनाओं को अंजाम देने वाला चन्नी लम्बे समय से पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। ऐसे में अब पुलिस के सामने यह भी चुनौती है कि पुलिस इस शातिर बदमाश के साथियों को कितनी जल्दी पकड़ पाएगी।

Next Story
Share it