Friday , July 30 2021
Breaking News

कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर किशोरी से एसआई ने की दुष्कर्म की कोशिश

 लखीमपुर-खीरी/देव श्रीवास्तव: योगी सरकार के निर्देश पर पुलिस इन दिनों लड़कियों से छेड़छाड़ करने वाले शोहदों पर कार्रवाई करने में जुटी है। इस कार्रवाई के बदले न केवल योगी सरकार की तारीफ हो रही है बल्कि लोगों में पुलिस को लेकर छवि में भी बदलाव आ रहा है। इस बीच रेलवे पुलिस बल के एक एसआई ने कुछ ऐसा कर डाला जिसने पुलिस के दामन का दागदार कर डाला। किशोरी की अस्मत लूटने की नीयत से एसआई ने कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया। हल्का सा नशा होते ही उसने छेड़छाड़ शुरू कर दी। किशोरी वहां से किसी तरह भाग निकली। परिजनों की तहरीर पर थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 
IMG-20170325-WA0015
पूर्वाेत्तर रेलवे के मैलानी जंक्शन की रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट पर कार्यरत उपनिरिक्षक भरत सिंह पर कस्बे की एक नाबालिक लड़की ने छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया। नाबालिक के परिजनों द्वारा दी तहरीर में बताया गया कि उक्त आरोपी उप निरिक्षक ने उनकी नाबालिक पुत्री को अपने घर बुलाया। मेहमान नवाजी के नाम पर उसे कमरे में रखा कोल्ड ड्रिंक दिया। आरोप है कि बुरी नीयत के चलते भरत सिंह ने चुपके से कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिला दिया। जब किशोरी ने कोल्ड ड्रिंक पी और हल्का-हल्का नशा होने लगा तो उप निरीक्षक ने उसके साथ अश्लील हरकतें शुरू कर दीं। इससे किशोरी उसकी मंशा भांप गई और उसी हालत में उसे धक्का देकर भाग खड़ी हुई। घर पहुंच कर उसने सारी जानकारी अपने परिजनों को दी। नाराज परिजन लड़की को लेकर थाने पहुंच गए और आरोपी उप निरीक्षक के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। थाना मैलानी पुलिस ने आरोपी आरपीएफ के एसआई भरत सिंह के विरुद्ध नाबालिक के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने बताया कि उन्होंने मामले की जांच शुरू कर दी है। यदि एसआई दोषी सिद्ध हुआ तो गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं इस संबंध में जब आरोपी एसआई से बात की गयी तो उन्होंने लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने ऐसा कोई कृत्य न करने की बात कहकर खुद को निर्दोष बताया। उधर मामला प्रकाश में आने पर रेलवे पुलिस के अधिकारियों ने आरोपी को सस्पेंड कर दिया है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *