देश के बड़े वैज्ञानिक की बेरहमी से हत्या

चेन्नई: एक वैज्ञानिक की बेरहमी से हत्या करने का मामला सामने आया है। मृतक वैज्ञानिक इंदिरा गांधी सेंटर फॉर ऑटोमिक रिसर्च में कई वर्षों तक अपनी सेवा दे चुके थे। पुलिस को शक है कि किसी रंजिश के चलते उनकी हत्या की गई है। मामले की जांच जारी है।

घटना के समय घर में अकेले थे मृतक पूर्व वैज्ञानिक का नाम बाबू राव (61 वर्ष) था। पुलिस के मुताबिक, वारदात को उस वक्त अंजाम दिया गया, जब बाबू राव घर में अकेले थे। दरअसल बाबू राव ने घर के किसी काम से दो लोगों को बुलाया था. सोमवार सुबह जब बशीर और सतीश उनके घर पहुंचे तो काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बावजूद घर का दरवाजा नहीं खुला।img_20161115095242
बेहरमी से की हत्या जिसके बाद बशीर ने खिड़की से घर के अंदर झांका तो उसके होश उड़ गए। बशीर ने देखा कि बाबू राव जमीन पर गिरे पड़े हैं और उनके आसपास खून बिखरा हुआ है। उन्होंने फौरन पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने वहां पहुंच दरवाजा तोड़ा और फिर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
क्या कहती है पुलिस के मुताबिक, बाबू राव की लकड़ी के स्टूल से वार कर हत्या की गई है। बाबू राव के चेहरे और सिर में गहरे जख्म थे। पुलिस ने मौके से वारदात में प्रयोग किया गया स्टूल भी बरामद कर लिया है। पुलिस को शक है कि वैज्ञानिक की हत्या रंजिशन की गई है, क्योंकि हत्यारों ने घर में रखे किसी भी सामान को हाथ नहीं लगाया।
मृतक की पत्नी और उनके बच्चों को घटना की सूचना दे दी गई है। जांच अधिकारी ने बताया कि शनिवार को मृतक की पत्नी पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आंध्र प्रदेश के सुलुरपेट गई थी। घर में बाबू राव अकेले रह रहे थे. फिलहाल पुलिस हत्यारों का पता लगाने के लिए आसपास में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।
 
=>
loading...

You May Also Like