Breaking News

महिलाओं को अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहना चाहिए: सुनीता

सिरसा।।(।(सतीश बंसल ) पूरे भारत में विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस मनाते हुए दिल्ली स्थित सामाजिक उद्यम प्रोजेक्ट बाला और नेशनल इंटीग्रेटेड फोरम ऑफ  आर्टिस्ट्सल एंड एक्टिविस्ट्स ने माहवारी के विषय पर जागरूकता की कमी से लडऩे के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू किया है। अभियान के तहत पूरे भारत के सभी 28 राज्यों व 8 केंद्र शासित प्रदेशों में 111 से अधिक शिविर आयोजित किए गए, जिसमें 11000 से अधिक महिलाओं ने भाग लिया। 28 मई 2022 को अंतरराष्ट्रीय माहवारी स्वास्थ्य दिवस पर होने जा रहे इस अभियान के तहत राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय रंधावा में कैंप का आयोजन किया गया, जिसमें कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य रविंद्र चौहान ने की, जिसमें मुख्य अतिथि  के रूप में अनामिका नेशनल यूथ अवॉड्र्स मातृभूमि निफा ने अभियान के बारे में जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग से जीएनएम व एएनएम सुनीता ने बताया कि महिलाओं को अपने स्वास्थ्य के प्रति जागृत रहना चाहिए और समय-समय पर डॉक्टरी सलाह भी लेनी चाहिए।

किसी भी प्रकार की समस्या से घबराना नहीं चाहिए और बेझिझक होकर अपने विचार स्वास्थ्य कर्मी अपने माता-पिता और अभिभावकों से सांझा करें। प्राचार्य रविंद्र कुमार ने महिला जागृति पर अपने विचार रखें और कहा कि एक स्वस्थ मन से ही स्वस्थ समाज का निर्माण होता है कार्यक्रम प्रभारी पूनम निफा व ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर महिला एवं बाल विकास विभाग ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर निफा महासचिव हरियाणा दलबीर सिंह ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर निफा शिक्षा एवं मातृभूमि से गार्गी फाउंडेशन से कविता गोदारा, आरजू शर्मा, सारिका, मुस्कान, सोनिया शर्मा, पूनम कड़वा, प्रोमिला, किरण, कांता, मनीषा, सरोज, शालिनी, अनामिका, कैलाश कंबोज, डा. बलदेव राज कंबोज, नेशनल यूथ बॉडी प्रवक्ता संदीप कुमार, महेंद्र सिंह, सतपाल, विजय कुमार, लख्मीचंद, मुरारी सिंह, मनीराम सहित स्कूल के छात्राएं तथा एएनएम, जीएनएम, आशा वर्कर गांव रंधावा तथा सक्षम से महिलाएं भी उपस्थित रहे।