Top
Pradesh Jagran

बलिया में महिला शिक्षक ने स्कूल खुलने से पूर्व अभिभावकों की ली दक्षता परीक्षा

बलिया में महिला शिक्षक ने स्कूल खुलने से पूर्व अभिभावकों की ली दक्षता परीक्षा
X

-प्राथमिक विद्यालय अमृतपाली बना अभिभावकों व बच्चों के दक्षता के आकलन का केंद्र

बलिया। शिक्षा में नए-नए प्रयोगों से शिक्षिका प्रतिमा उपाध्याय कम समय में ही अपना व अपने विभाग का काफी नाम किया है। एक बार फिर उन्होंने ने अनोखा काम किया है। एक मार्च से स्कूल खुलने से पहले प्रतिमा ने बच्चों के अभिभावकों की परीक्षा ली है।

शिक्षा में नवाचार के जरिए जिले में अपनी पहचान बना चुकीं शिक्षा क्षेत्र दुबहड़ के प्राथमिक विद्यालय अमृतपाली की प्रधानाध्यापिका प्रतिमा उपाध्याय अपने विद्यालय, ब्लॉक व जिले को प्रेरक जिला व प्रदेश को प्रेरक प्रदेश बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रही हैं। अब उन्होंने एक नई पहल की है। एक मार्च से कक्षा एक से पांचवीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खुलने से पहले उन्होंने बच्चों के साथ-साथ अभिभावकों की दक्षता का आकलन कराने के लिए सोमवार को एक विशेष परीक्षा का आयोजन किया। जिसमें अभिभावकों से कोरोना काल की विषम परिस्थितियों में विद्यालय द्वारा संचालित ई-क्लासेज, मोहल्ला क्लास, वाट्सएप ग्रुप पर भी चर्चा की गई।



उल्लेखनीय है कि पिछले एक वर्ष से वे प्रत्येक सोमवार को अभिभावकों से जनसंपर्क करते हुए शिक्षण प्रक्रिया को बेहतर बनाने के लिए लगातार कैम्पेन चला रही हैं। साथ ही प्राथमिक विद्यालय अमृतपाली में पिछले एक वर्ष से लगातार अभिभावकों से सम्पर्क व ई-क्लासेज चलाया गया। पुनः विद्यालय खुलने से पूर्व अभिभावकों व बच्चों की दक्षता परीक्षण करके शिक्षा के स्तर को सुधारने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम हो सकता है। प्रतिमा उपाध्याय ने बताया कि अभिभावकों से हमने यह जानने का प्रयास किया कि कोरोना काल मे बच्चों को ई क्लास के माध्यम से पढ़ाने का कितना असर हुआ है।


Next Story
Share it