Breaking News
Donate Now

उन्नाव कांड : उप्र में दिनभर हुई सियासत, सपा-बसपा और कांग्रेस में रही होड़

उन्नाव कांड : उप्र में दिनभर हुई सियासत, सपा-बसपा और कांग्रेस में रही होड़

लखनऊ। उन्नाव गैंगरेप पीड़ित युवती की मौत के बाद शनिवार को उत्तर प्रदेश की सियासत दिनभर गरमायी रही। प्रदेश के सभी प्रमुख विपक्षी दलों ने मौत की इस जघन्य घटना को जमकर भुनाने की कोशिश की। इस दौरान सपा, बसपा और कांग्रेस में होड़ की स्थिति बनी रही।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा दो दिन से लखनऊ के दौरे पर थीं। शनिवार सुबह उन्हें जैसे ही उन्नाव गैंगरेप पीड़ित की मौत का पता चला, अपने पूर्व निर्धारित सारे कार्यक्रम को स्थगित कर वह उन्नाव के लिए रवाना हो गयीं।

इस बीच सपा मुखिया अखिलेश यादव को प्रियंका गांधी की रणनीति की भनक लगी तो वह विधानसभा के सामने धरना देने पहुंच गये और वहां दो मिनट का मौन भी रखा।

फिर क्या था, सपा और कांग्रेस में मौत पर सियासत करने की होड़ सी लग गयी। परिणामस्वरुप कांग्रेसी भाजपा कार्यालय के सामने प्रदर्शन करने लगे। यह प्रदर्शन थोड़ी देर के लिए उग्र भी हुआ तो पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। बाद में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू भी प्रदर्शन स्थल पर पहुंच गए, फिर पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया।

सपा और कांग्रेस के बाद बसपा भी मौत पर चल रही सियासत में कूद पड़ी। बसपा सुप्रीमो मायावती ने पहले इस मामले में ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी। इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात करने वह राजभवन पहुंचीं। राज्यपाल को उन्होंने एक ज्ञापन भी सौंपा और प्रदेश में महिला सुरक्षा पर कड़े कदम उठाने की अपील की।

विपक्ष के हमले को देखते हुए योगी सरकार ने भी अपनी हरकत तेज की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की प्राविधिक शिक्षा मंत्री और उन्नाव की प्रभारी मंत्री मंत्री कमल रानी वरुण और श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य को तत्काल उन्नाव पहुंचकर पीड़ित परिवार से मिलने का निर्देश जारी किया।

मुख्यमंत्री के निर्देश के क्रम में दोनों मंत्रियों ने वहां पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की और मुख्यमंत्री की तरफ से 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और प्रधानमंत्री आवास की घोषणा की।

मंत्री कमल रानी वरुण ने कहा कि पीड़िता के परिवार को आर्थिक मदद के रुप में 25 लाख रुपये का चेक जिला मजिस्ट्रेट द्वारा दिया जाएगा। साथ ही परिवार की मांग के अनुसार प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत एक घर भी मुहैया कराया जाएगा।

गौरतलब है कि उन्नाव जिले के एक गांव की रहने वाली गैंगरेप पीड़िता को आरोपियों ने गुरुवार सुबह आग के हवाले कर दिया था। इलाज के लिए पीड़िता को एयर एम्बुलेंस से दिल्ली ले जाया गया था, लेकिन वह बच नहीं सकी। शुक्रवार देर रात दिल्ली के अस्पताल में उसकी मौत हो गयी थी।

error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com