Top
Pradesh Jagran

फ्यूल ऐप' पर अब ग्रॉसरी पर भी मिलेगा कैशबैक, नया यूजर इंटरफेस भी लॉन्च

फ्यूल ऐप पर अब ग्रॉसरी पर भी मिलेगा कैशबैक, नया यूजर इंटरफेस भी लॉन्च
X

नई दिल्लीः 'फ्यूल ऐप' एक यूनिक कैशबैक ऐप, जिसने बीते साल भारतीय एंड्रॉयड बाजार में जोरदार अंदाज में प्रवेश किया था और पेट्रोल, डीजल, सीएनजी, एलपीजी, रेस्टोरेंट के साथ सभी तरह की वाइन और बियर पर 50 फीसदी कैशबैक देकर काफी लोकप्रिय हो चुकी है। अब फ्यूल ऐप ने एक नए यूजर इंटरफेस के साथ ऐप का उपयोग बेहद आसान कर दिया है, जिस पर स्कूल फीस, ग्रॉसरीज यानि किराना आदि का सामान, ट्रैवल, अस्पताल, फार्मेसी, सैलून, कपड़े, ऑनलाइन बिल भुगतान आदि सहित काफी कुछ को 50 फीसदी कैशबैक की ऑफर्स में शामिल किया है।

फ्यूल प्रीपेड कार्ड को हाल ही में टीवी सेलिब्रिटी डेलनाज़ ईरानी और पंकित ठक्कर द्वारा लॉन्च किया गया।

बढ़ते हुए यूजर आधार को देखते हुए ऐप अपने डेडीकेटेड "रुपे कार्ड" के साथ एक और नई शुरूआत करने के लिए तैयार है, जिसका उपयोग हर तरह की खरीदारी और कैशबैक के लिए किया जा सकेगा। कार्ड को ऐप पर ही आवेदन कर आसानी से बुक किया जा सकता है।

ये नया कार्ड एक प्रीपेड डेबिट कार्ड की तरह काम करेगा और सभी ऑनलाइन शॉपिंग और स्वाइप मशीनों के लिए मान्य होगा। यह सभी यूजर्स को अतिरिक्त सुविधाएं देगा क्योंकि उन्हें अब नए वेरिएंट में बिल अपलोड नहीं करने होंगे। सभी तरह के ट्रांजेक्शंस और खरीदारी कार्ड के माध्यम से की जाएगी।

कार्ड को किसी भी प्रीपेड कार्ड की तरह रिचार्ज करना होगा। यूजर ऐप से भी अपने कार्ड को रिचार्ज कर सकते हैं। ऐप मासिक कैश बैक पर लिमिट्स तय करेगा और कैशबैक को यूजर्स द्वारा ऐप पर किसी भी प्रोडक्ट पर क्लेम करते हुए बिना किसी नकद भुगतान किए बिना भुनाया जा सकता है।

इस नए लॉन्च के बारे में बात करते हुए, रौनक शर्मा, फाउंडर फ्यूल ने कहा कि "हमने अब एक नए वेरिएंट के साथ अपग्रेड किया है क्योंकि हमें अपने यूजर्स से काफी अच्छा रिस्पांस मिल रहा है। इसी को देखते हुए हमने महसूस किया कि अपनी ऑफर्स को अगले स्तर पर जाने के लिए ये पूरी तरह से सही समय है। हमारा इरादा आम आदमी पर फाइनेंशियल प्रेशर को कम करना है जो कि हमारे बिजनेस का मूल मंत्र भी है। कोविड के इस कठिन दौर में लोगों को कुछ ना कुछ फाइनेंशियल राहत देना और भी जरूरी हो गया है। हम मध्यम वर्गीय लोगों पर वित्तीय दबाव को कम करना चाहते हैं, जो कि महामारी के दौर में बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं, इसलिए हमने अब किराने की कैटेगरी को भी अपनी ऐप में जोड़ दिया है। वर्तमान माहौल में हम सभी जानते हैं; कम आय वाले समूह को दैनिक घरेलू सामान खरीदते समय काफी दिक्कत महसूस होती रहती है। हम चाहते हैं कि गृहिणियों को भी किराने की वस्तुओं के लिए कैशबैक मिले ताकि उनको भी कुछ बचत करने का मौका मिले।"

ये ऐप पेट्रोल, डीजल, सीएनजी, लिकर, रसोई गैस और बच्चों के स्कूल की फीस को कवर करने के बाद अब इसमें ग्रासरीज यानि किराना को भी एक नई कैटेगरी के तौर पर शामिल किया गया है।

तो, ऐसे में अपने आप को प्ले स्टोर या ऐप स्टोर से फ्यूल ऐप डाउनलोड करके पैसे बचाने के नए ट्रेंड के साथ अपडेट रखें। आप आज ही अपने नाम, मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी के साथ फ्यूल प्रीपेड कार्ड को बुक करवा लें।

कार्ड प्राप्त करने के बाद, फ्यूल ऐप से अपना कार्ड पिन सेट करें। फ्यूल ऐप में टॉप-अप को सिलेक्ट कर अपने कार्ड में पैसे लोड करें। अपना कार्ड कहीं भी ऑफलाइन या ऑनलाइन जैसे पेट्रोल, डीजल, सीएनजी, एलपीजी, किराने का सामान, मेडिकल बिल, स्कूल फीस, ऑनलाइन बिल के भुगतान आदि के लिए उपयोग करें।

आप हर ट्रांजैक्शन पर 50 प्रतिशत कैशबैक पा सकते हैं। और आप अपने कैशबैक को फ्यूल ऐप के शॉपिंग कार्ट से एयर कंडीशनर, एयर प्यूरीफायर, होम थिएटर, और लैपटॉप, एलईडी टीवी, मोबाइल फोन, रेफ्रिजरेटर, स्कूटी, बाइक जैसे उत्पादों की खरीद में भी क्लेम कर सकते हैं। इस तरह से ये यूज के लिए बेहद आसान है।

फ्यूल को साल 2020 में इस अप्रत्याशित महामारी और लॉकडाउन के दौरान बढ़ती महंगाई के दौरान आम ग्राहकों को राहत देते हुए उनकी जिंदगी को आसान बनाने के लिए लॉन्च किया गया था। फ्यूल कैशबैक ऐप बाजार में अपनी तरह का पहला ऐप है जो कि कम आय वाले वर्गों और गृहिणियों को एक अतिरिक्त आय कमाने का मौका देता है।

यह क्रिएटिव वेंचर श्री रौनक शर्मा का आइडिया है, जो आज फ्यूल ऐप के तौर पर काफी तेजी से यूजर्स में लोकप्रिय हो रहा है। यह ऐप पूरी तरह से 'मेक इन इंडिया' है और ये स्आर्टअप भारत सरकार द्वारा शुरू की गई आत्मनिर्भर भारत योजना को प्रोत्साहित कर रहा है।

Next Story
Share it