Breaking News

नकली पिस्टल से धमका कर मोबाइल छीनने वाले दो अभियुक्त गिरफ्तार

औराई,भदोही:-

थानाक्षेत्र औराई की पुलिस ने नकली पिस्टल दिखाकर लोगों को डरा-धमका कर मोबाइल छीनने वाले दो शातिर चोरों को 8 अदद मोबाइल के साथ गिरफ्तार किया है। पकड़े गए अभियुक्तों की निशानदेही पर उनके घरों से आधा दर्जन बाइकें भी बरामद की है। सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। इस संबंध में सोमवार को प्रेसवार्ता कर जानकारी दी गई।

मुखबिर की गुप्त सूचना के बाद की गई कार्रवाई के बाद पुलिस ने बताया कि मुखबिर से गुप्त सूचना मिली थी कि सरायकेला गुदड़ी मार्केट में दो संदिग्ध व्यक्ति थानाक्षेत्र के उपरौठ नहर स्थित सरकारी बीयर की दुकान के पास बैठे है। इस सूचना पर सत्यापन व कार्रवाई के लिए प्रभारी निरीक्षक सदानंद सिंह मय हमराहियों उ0नि0 अजय कुमार मिश्र,का0 सुनील सिंह, शेराफुल हसन, अबरारअहमद,प्रकाश, अजय प्रजापति पुलिस बाजार पहुंची तो दोनों अभियुक्त भागने लगे। पुलिस ने दौड़ाकर दोनों को पकड़ लिया। गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम धीरज दूबे पुत्र लल्लन दूबे व कार्तिक दूबे पुत्र पप्पू उर्फ मनोज दूबे निवासीगण ग्राम उपरौठ थाना औराई ने पूछताछ के बाद अभियुक्त धीरज दूबे ने बताया कि हम दोनों ने कई बाइकें चोरी की है। जिसे हम सभी अपने घरों में छिपाकर रखे हैं। अभियुक्त धीरज दूबे ने बताया कि मैं डीपीआरओ ज्ञानपुर की गाड़ी चलाता हूं अक्सर कार्तिक मुझे मिलता है हम लोग साथ में शराब पीते हैं तथा ज्ञानपुर गोपीगंज माधव सिंह घोसिया औराई भदोही वकील आदि स्थानों पर अकेला व्यक्ति देखकर उसका मोबाइल इसी बरामद नकली पिस्टल से फायर दिखाकर छीन कर भाग जाते हैं यह काम कार्तिक करता है उसका सहयोग मैं गाड़ी चला कर करता हूं यह भी बताएं कि हम लोग बाइकों को भी चोरी करते हैं भीड़ भाड़ वाले स्थानों पर निगाह लगाए रहते हैं जैसे ही कोई व्यक्ति अपनी बाइक खड़ी करके किसी दुकान पर सामान लेने जाता है मौका पाकर हम लोग मास्टर चाबी लगाकर उनकी बाई के चोरी कर लेते हैं और कुछ दिनों तक अपने घरों में छुपा कर रखने के बाद उनके नंबर प्लेट बदलकर चलाते हैं अथवा फर्जी कागज बना कर भेज देते हैं बरामद बाइकों में औराई तहसील गेट से दिनांक 9:10-021 को चोरी गई हीरो स्प्लेंडर प्रो0 संख्या यूपी 66 एल 1193 काले रंग की हरी पट्टी तथा दूसरी वाहन अपाचे आरटीआर 160 सीसंसी नीले रंग की वाहन संख्या यूपी 66 ई 6610 विकास भवन ज्ञानपुर से चोरी की थी। अभियुक्तों पर मुकदमा अपराध संख्या 257/2021धारा411,414,467,468,471,506(2) भादंसं व धारा 20ए एक्ट पंजीकृत कर अभीयुक्तों को जेल भेज दिया है।