Top
Pradesh Jagran

Twitter ने दिखाया भारत का गलत नक्शा, संयुक्त संसदीय समिति ने मांगा लिखित जवाब

Twitter ने दिखाया भारत का गलत नक्शा, संयुक्त संसदीय समिति ने मांगा लिखित जवाब
X

सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट Twitter द्वारा दिखाए गए भारत के गलत नक़्शे के मामले को लेकर संयुक्त संसदीय समिति ने कड़ा फैसला लिया है। दरअसल, संयुक्त समिति ने ट्विटर से उनकी इस गलती के लिए लिखित जवाब मांगा है। समिति ने इसे आपराधिक मामला करार दिया है।

दरअसल, ट्विटर ने लद्दाख को जिओ टैगिंग में चीन का हिस्सा दिखाया था। इस बात को लेकर संयुक्त संसदीय समिति ने डाटा प्रोटेक्शन पर ट्विटर को तलब किया था। इसके बाद ट्विटर प्रतिनिधि समिति के सामने पेश हुए।

यहां समिति ने ट्विटर प्रतिनिधियों से कहा कि यह कानूनी रूप से आपराधिक मामला है। ये भारत की संप्रभुता और अखंडता का खुला उल्लंघन है और इसमें सात साल तक की सजा का प्रावधान है। समिति ने ट्विटर से उनकी इस गलती का लिखित में जवाब मांगा है।

Twitter को अब लिखित जवाब देना है और बताना होगा कि कैसे उसने भारत के हिस्से लद्दाख को चीन का हिस्सा दिखाया है। ट्विटर की ओर से इस मामले में सगुप्ता कमरान, पल्लवी वालिया, मनविंदर बाली और आयुषी कपूर संसदीय समिति के सामने पेश हुई थीं।

आपको बता दें कि बीते 18 अक्टूबर को ट्विटर ने अपने प्लेटफॉर्म में लेह की जियो टैग लोकेशन को चीन में दिखाया था। चीन के इस कृत्य के खिलाफ मोदी सरकार ने एक्शन लेते हुए ट्विटर के सीईओ जैक डोरसी को चिट्ठी लिखी थी और संवेदनशीलता से काम करने को कहा था।

Next Story
Share it