Breaking News
Donate Now

आज हैं International Left Handers Day : इस ख़ास मौके पर जाने धाकड़ लेफ्टी खिलाड़ियों की प्लेइंग XI

हमारे समाज में शुरू से ही बाएं हाथ से काम करने वाले यानि लेफ्ट हैण्डर्स को एक अलग निगाह से देखा जाता रहा है। ऐसे में उनकी ये ख़ास योग्यता और इसके फायदे व नुकसान को याद रखने के लिए 13 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय वाम हाथ दिवस ( International Left Handers Day ) मनाते हैं। दुनिया की कुल आबादी में 7 से 10 प्रतिशत बाएं हाथ से काम करने वाले लोग पाए जाते हैं। जिनके लिए साल 1976  से डीन आर. कैम्पबेल जो कि लेफ्ट हैण्डर फाउंडेशन के संस्थापक थे उन्होंने पहली बार इस दिवस को मनाया था। तबसे लेकर आज तक 13 अगस्त को सभी पूरी दुनिया में बाएं हाथ से काम करने वाले लोगो के लिए इसे ख़ास दिन के तौर पर मनाते आ रहे हैं।

ऐसे में पूरानी सदी में इन बाए हाथ से लिखने वालों को कमतर आँका जाता था या कहीं – कहीं बाएं हाथ से कोई भी काम करने पर इन्हें अशुभ भी बोला जाता था। मगर क्रिकेट की बात करें तो जबसे इस खेल की शुरुआत हुई है तबसे इसमें बाएं हाथ के बल्लेबाजों और गेंदबाजों का जलवा बरकरार रहा है। इस ख़ास मौके पर हम क्रिकेट की दुनिया के उन 11 दिग्गज खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे, जिन्होंने बाएं हाथ से क्रिकेट खेली और दुनिया में अपना नाम और मुकाम बनाया। इस प्लेइंग इलेवन में तीन भारतीय खिलाड़ी भी शामिल हैं।

इस ख़ास प्लेइंग इलेवन में सलामी बल्लेबाज के तौर पर ऑस्ट्रेलिया के बाएं हाथ के मैथ्यू हेडन और दूसरे सलामी बल्लेबाज के रूप में उनके साथ एडम गिलक्रिस्ट को शामिल किया गया है। इतना ही नहीं गिलक्रिस्ट को टीम में बतौर विकेटकीपर बल्ल्लेबाज के रूप में शामिल किया गया है। जबकि तीन नम्बर पर वेस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज और टेस्ट क्रिकेट में 400 रनों की रिकॉर्ड पारी खेलने वाले ब्रायन लारा को जगह दी गई है।

इसके बाद मध्यक्रम में नाम आता है टीम इंडिया को अपनी कप्तानी में निडर और देश से बाहर जीतने की कला सीखाने वाले पूर्व कप्तान सौरव गांगुली का। गांगुली भी बाएं हाथ से बल्लेबाजी करते थे और इन्हें ऑफ साइड के खेल का किंग कहा जाता था। इस तरह गांगुली को इस बाए हाथ की क्रिकेट इलेवन का कप्तान भी बनाया जा सकता है।

गांगुली के बाद मध्यक्रम पर दूसरे बल्लेबाज श्रीलंका के कुमार संगाकारा को रख सकते हैं। बतौर लेफ्ट हैण्डर उनके नाम वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक यानि 14234 रन हैं। उनसे आगे सिर्फ सचिन तेंदुलकर 18,426 रनों के साथ है लेकिन वो दाएं हाथ से बल्लेबाजी करते थे।

छठे नम्बर पर युवराज सिंह को भी शामिल कर सकते हैं। युवी की तेज तर्रार बल्लेबाजी से सभी वाकिफ है। ऐसे में वो इस टीम में एक तरह के फिनिशर बल्लेबाज का भी रोल अदा कर सकते हैं। जबकि 7वें नम्बर पर ऑस्ट्रेलिया के शानदार बाएं हाथ के बल्लेबाज रहे माईकल बेवन को भी इस ख़ास टीम में जगह मिली है।

गेंदबाजों की बात करें तो बाएं हाथ की प्लेइंग इलेवन में तेज गेंदबाजी के रूप में ज़हीर खान, वसीम अकरम, व श्रीलंका के दिग्गज स्विंग गेंदबाज चमिंडा वास को जगह मिली है। ये तीनो बाएं हाथ के गेंदबाज अपन समय में सबसे बेहतरीन गेंदबाज माने जाते रहे हैं। इसके अलावा बाएं हाथ की स्पिन गेंदबाजी से रंगाना हेराथ ने भी धमाल मचाया है। इसलिए उन्हें भी शामिल किया गया है।

बाएं हाथ की प्लेइंग इलेवन इस प्रकार है : –  मैथ्यू हेडन, एडम गिलक्रिस्ट, ब्रायन लारा, सौरव गांगुली, कुमार संगाकारा,  युवराज सिंह, माईकल बेवन, ज़हीर खान, वसीम अकरम, चमिंडा वास और रंगाना हेराथ।

error: Content is protected !!