Top
Pradesh Jagran

WTC फाइनल 6 साल की मेहनत का नतीजा : विरोट कोहली

WTC फाइनल 6 साल की मेहनत का नतीजा : विरोट कोहली
X

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम आज करीब साढ़े तीन महीने के इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हो रही है। इस दौरान टीम इंडिया आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलेगी। दौरे पर रवाना होने से पहले मुंबई में टीम के कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री ने मीडिया से बात की।

कप्तान कोहली ने चैंपियनशिप के फाइनल में खेलने पर बोलते हुए कहा कि ये भारतीय टीम के 4-6 सालों की कड़ी मेहनत का नतीजा है और उनकी टीम टेस्ट क्रिकेट खेलने पर गर्व महसूस करती है। वहीं कोच शास्त्री ने सुझाव दिया कि इस फॉर्मेट के फाइनल को सिर्फ एक के बजाए 3 मैच का किया जाना चाहिए।

2019 में शुरू हुई आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की पॉइंट्स टेबल में भारतीय टीम सबसे ऊपर रही थी। इस दौरान भारतीय टीम ने 17 टेस्ट मैच खेले, जिसमें 12 में उसे जीत मिली थी, जबकि 4 में हार झेलनी पड़ी थी। सिर्फ एक मैच ड्रॉ रहा था। वहीं न्यूजीलैंड की टीम इस चैंपियनशिप में दूसरे स्थान पर रही और अब दोनों के बीच 18 जून से साउथैंप्टन में इस फॉर्मेट के विश्व चैंपियन का फैसला होगा।

इंग्लैंड के लंबे दौरे के लिए रवाना होने से चंद घंटे पहले हुई इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीम के कप्तान कोहली और कोच शास्त्री ने टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल, इंग्लैंड की परिस्थितियों और व्यस्त कार्यक्रम को लेकर अपनी राय रखी। टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल और इसमें टीम के पहुंचने पर कप्तान कोहली ने कहा, "WTC फाइनल की काफी अहमियत है क्योंकि ये अपनी तरह का पहला इवेंट है। हम (भारतीय टीम) टेस्ट खेलने में काफी गर्व महसूस करते हैं। पिछले 5-6 सालों में जिस तरह से हमने अपनी टीम तैयार की है, ये उसी मेहनत का एक मिलाजुला नतीजा है।"

भारतीय कप्तान ने कहा कि उन्हें हमेशा से विश्वास था कि भारतीय टीम ही सबसे पहले इस चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचेगी। कोहली ने कहा, "हमारी जिम्मेदारी है कि शीर्ष पर रहें। इसमें कभी कोई शक नहीं था कि हम फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम होंगे। फिर हम अगले 2-3 सालों तक शीर्ष पर रहने के लिए योजना और तैयारी करेंगे।"

वहीं टीम के कोच रवि शास्त्री ने भी इसे सबसे बड़ा और सबसे मुश्किल माना और साथ ही चैंपियनशिप के भविष्य के लिए सुझाव भी दिया कि फाइनल को एक मैच के बजाए 3 मैचों की सीरीज होनी चाहिए। उन्होंने कहा, "पहली बार WTC का फाइनल खेला जा रहा है। मेरे ख्याल से ये सबसे बड़ा है। यह खेल का सबसे मुश्किल प्रारूप है। ये दो साल में हुआ है और जबरदस्त इवेंट है। आदर्श स्थिति यह होगी, 2-3 साल की मेहनत का अंत 'बेस्ट ऑफ थ्री' फाइनल से होना चाहिए।"

Next Story
Share it