Top
Pradesh Jagran

शोएब मलिक ने पाकिस्तान किक्रेट बोर्ड की खोली पोल, दिया ये बड़ा बयान

शोएब मलिक ने पाकिस्तान किक्रेट बोर्ड की खोली पोल, दिया ये बड़ा बयान
X

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट और विवादों से पुराना नाता है। खास तौर पर टीम चयन को लेकर अक्सर भेदभाव के आरोप लगते रहे हैं। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर, जुनैद खान और वहाब रियाज ने पाकिस्तान की टीम में पक्षपात और भाई-भतीजावाद के आरोप लगाए थे। अब इस लिस्ट में पाकिस्तान के लिए 20 साल से क्रिकेट खेल रहे दिग्गज खिलाड़ी शोएब मलिक का नाम भी जुड़ गया है। शोएब मलिक भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा के पति हैं।

मलिक ने आरोप लगाया है कि पाकिस्तानी क्रिकेट में खिलाड़ियों की काबिलियत के बजाए पसंद-नापसंद के आधार पर चयन किए जाते हैं और अब वह इस मामले में शांत नहीं रह सकते। शोएब मलिक पिछले लगभग 20 साल से पाकिस्तानी क्रिकेट टीम का हिस्सा हैं। उन्होंने इन दो दशकों में कई पाकिस्तानी कप्तान देखे हैं। खुद भी कप्तान रह चुके हैं और टीम मैनेजमेंट से लेकर पाकिस्तानी बोर्ड के तौर-तरीकों से अच्छे से वाकिफ हैं। जाहिर तौर पर अपने कप्तानी कार्यकाल में उन्होंने भी ऐसे हालातों का सामना किया होगा और उन पर भी इस तरह के आरोप लगे होंगे। ऐसे में अब जब उनका करियर अपने अंत के करीब है, तो उन्होंने इस मुद्दे पर अपनी बात रखी है।

काबिलियत पर पसंद-नापसंद को तरजीह

टेस्ट और वनडे से संन्यास ले चुके शोएब मलिका फिलहाल सिर्फ टी20 क्रिकेट में पाकिस्तानी टीम के सदस्य हैं। हालांकि, यहां भी पिछले साल सितंबर के बाद से उनको जगह नहीं मिल पाई है। ऐसे में मलिक ने आरोप लगाया है कि पाकिस्तानी क्रिकेट में पसंद-नापंसद का खेल सबसे ज्यादा चलता है।

पाकिस्तानी पत्रकार साज सादिक ने मलिक के हवाले से बताया, "हमारे क्रिकेट सिस्टम में पसंद-नापसंद का ज्यादा चक्कर है। ये पूरी दुनिया में होता है, लेकिन हमारे यहां ज्यादा है। जिस दिन हमारे क्रिकेट सिस्टम में बदलाव होने लगेगा, और किसी की जान-पहचान से ज्यादा अहमियत काबिलियत को देने लगेंगे, तो चीजें बेहतर होने लगेंगी।"

मलिक ने साफ किया कि उन्हें इस बात का खौफ नहीं है कि उन्हें आगे कभी दोबारा पाकिस्तान के लिए खेलने का मौका मिलता है या नहीं, लेकिन वह अब खामोश नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा, "अगर मुझे दोबारा मौका नहीं दिया जाता है, तो मुझे कोई अफसोस नहीं होगा, लेकिन अगर मैंने अपने साथी क्रिकेटरों की ओर से नहीं कुछ कहा, तो इसका अफसोस होगा।"

Next Story
Share it