Top
Pradesh Jagran

क्या टीम इंडिया के खिलाफ काम आएगा इंग्लैंड का ये पैंतरा?

क्या टीम इंडिया के खिलाफ काम आएगा इंग्लैंड का ये पैंतरा?
X

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम इंग्लैंड की जमीन पर उतर चुकी है और अगले साढ़े तीन महीने तक टीम इसी देश में अपना वक्त गुजारेगी। इस दौरान भारतीय टीम आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल और फिर इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी। फिलहाल फाइनल के बजाए टेस्ट सीरीज पर बात करेंगे, क्योंकि इंग्लिश टीम इस सीरीज में भारत से हाल ही में मिली हार का बदला लेने की कोशिश करेगी।

ऐसे में भारतीय बल्लेबाजों को परेशान करने के लिए इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड 'प्लान ग्रीन' यानी हरी-भरी, घसियाली पिच तैयार कर सकता है और ऐसा होता है, तो इसमें हैरानी की कोई बात नहीं होनी चाहिए। भारत के महान पूर्व बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने ये बात कही है और साथ ही उम्मीद जताई है कि ये दौरा भारतीय टीम के लिए खास साबित हो सकता है।

भारत ने फरवरी-मार्च में अपनी जमीन पर हुई टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड को 3-1 से मात देकर ही टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाई थी। ये फाइनल इंग्लैंड की जमीन पर खेला जाना है। भारत में हुई सीरीज के दौरान कुछ पूर्व इंग्लिश क्रिकेटरों ने पिच को लेकर रोना रोया था कि ये टेस्ट क्रिकेट के स्तर के हिसाब से खराब थी और कहा था कि आईसीसी को इन पिचों को खराब का दर्जा देना चाहिए।

इंग्लैंड पर ही भारी पड़ेंगी घसियाली पिचें

इतिहास को देखते हुए और इस सीरीज में पिचों के बवाल और उस पर इंग्लिश टीम के हाल को देखते हुए जाहिर तौर पर ये माना जा रहा है कि इस बार भी टेस्ट सीरीज में पिच इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों के मुफीद होगी। हालांकि, गावस्कर इसको लेकर ज्यादा चिंतित नजर नहीं आते। अंग्रेजी अखबार द टेलीग्राफ में अपने कॉलम में गावस्कर ने लिखा,

"भारत में पिचों को लेकर रोने के बाद अगर इंग्लैंड के ग्राउंड्समैन पिच पर थोड़ा घास छोड़ दें, तो ज्यादा हैरानी नहीं होगी। ये अब कोई चिंता की बात नहीं है, क्योंकि भारत के पास ऐसा गेंदबाजी आक्रमण है, जो इस पर छा जाएगा और इंग्लैंड के लिए परेशानियां खड़ी करेगा।"

2007 में आखिरी बार इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीती

भारतीय टीम ने 2007 में आखिरी बार इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीती थी। इसके बाद से लगातार 3 मौकों पर टीम इंडिया सीरीज जीतने में नाकाम रही है। 2018 में भारतीय टीम के पास सीरीज जीतने का मौका था, लेकिन कुछ मौकों पर करीब आकर भी टीम मैच जीतने में नाकाम रही और इसके चलते सीरीज गंवा बैठी। भारतीय टीम फिलहाल दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम है और ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतकर उसका आत्मविश्वास बढ़ा है। जाहिर तौर पर भारतीय टीम की संभावनाओं को मजबूत माना जा रहा है।

Next Story
Share it