Top
Pradesh Jagran

सोशल मीडिया पर केंद्र सरकार की कड़ी निगरानी,यूपी सरकार लेगी एक्शन

सोशल मीडिया पर केंद्र सरकार की कड़ी निगरानी,यूपी सरकार लेगी एक्शन
X

देश में कोरोना महामारी अपने चरम पर मरीजों को तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.कोई ऑक्सीजन के लिए भटक रहा तो कोई अस्पताल में बेड के लिए तो कोई सोशल मीडिया पर एक दुसरे से मदद मांग रहा है.संसाधनों के आभाव में लोगों का गुस्सा भी सोशल मीडिया पर फूट रहा है.तो कुछ लोग अनायास ही भ्रामक पोस्ट कर रहे हैं.ऐसे में केंद्र सरकार ने फेसबुक-ट्विटर सहित अन्य सोशल मीडिया साइटों से कोविड-19 से जुड़े भ्रामक पोस्ट हटाने को कहा है। सरकारी सूत्रों ने शनिवार को यह जानकारी दी। ट्विटर ने भारत सरकार के अनुरोध पर भ्रामक पोस्ट हटाने के बारे में संबंधित अकाउंट धारकों को सूचित कर दिया है।

हालांकि, उसने संबंधित अकाउंट और पोस्ट के आंकड़े नहीं सार्वजनिक किए। सूत्रों के मुताबिक आपत्ति वाले पोस्ट में भ्रामक जानकारियां दी गई थीं। इनका मकसद महामारी को लेकर लोगों में दहशत पैदा करना और स्वास्थ्यकर्मियों के प्रति द्वेष की भावना जगाना था.

ट्विटर ने भारत सरकार के कानूनी आग्रह पर कार्रवाई करने और इसकी जानकारी प्रभावित खाताधारकों को देने की बात स्वीकार की है. हालांकि ट्विटर ने प्रभावित खातों का ब्यौरा साझा नहीं किया है.ट्विटर के प्रवक्ता ने कहा, हमें जब कोई आधिकारिक आदेश मिलता है तो ट्विटर नियमों और कानून के तहत हमें और हमारी टीम को उसकी समीक्षा करनी पड़ती है. उन्होंने कहा कि अगर कोई भी कंटेंट ट्विटर के नियमों के खिलाफ होगा तो उसे तत्काल हटाया जाएगा. लेकिन यदि कंटेंट न्यायाधिकार के हिसाब से गैरकानूनी होता है लेकिन ट्विटर के नियम के खिलाफ नहीं होगा तो उसे डिलीट नहीं किया जाएगा. हालांकि वह कंटेंट को भारत में दिखना बंद हो जाएगा.

यूपी सरकार लेगी एक्शन

उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है और लगातार मामले बढ़ रहे हैं। लेकिन इस बीच उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक आदेश जारी कर सोशल मीडिया पर कोरोना संबंधित कोई भी भ्रामक जानकारी देने वालों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है।


डीजीपी ऑफिस जारी एक सरकारी पत्र में लिखा गया कई सोशल मीडिया पर काफी भ्रामक पोस्ट किये जा रहे हैं,या माहौल ख़राब या अफ़वाह वाले पोस्ट करने वालों पर सख़्त कार्रवाई होगी सोशल मीडिया पर सरकार की निगाह बनी हुई है.

Next Story
Share it