Breaking News
Donate Now

पीएम मोदी ने शाहीन बाग में 50 दिन से जारी प्रदर्शन पर कहा-यह संयोग नहीं, प्रयोग है

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर विरोध देश को खंडित करने की सुनियोजित साजिश है। उन्होंने कहा कि सीलमपुर हो, जामिया हो या फिर शाहीन बाग बीते कई दिनों से सीएए को लेकर प्रदर्शन हुए। क्या ये प्रदर्शन सिर्फ एक संयोग हैं। नहीं, ये संयोग नहीं, ये प्रयोग हैं। इसके पीछे राजनीति का एक ऐसा डिजाइन है, जो राष्ट्र के सौहार्द को खंडित करने का इरादा रखता है।

मोदी ने सोमवार को राजधानी के शाहदरा इलाके में दिल्ली विधानसभा के चुनाव प्रचार में अपनी पहली चुनाव सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सीएए को लेकर चल रहे विरोध के प्रति दिल्ली और देश की जनता में गुस्सा है। लोगों को इस गुस्से का जवाब दिल्ली में भाजपा को जनादेश देकर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली में भाजपा को दिया गया जनादेश उनके हाथ मजबूत करेगा।

उन्होंने जामिया मिल्लिया इस्लामिया और शाहीनबाग के विरोध प्रदर्शनों का हवाला देते हुए कहा कि यह सब स्वत: स्फूर्त और संयोगमात्र नहीं है। इसके पीछे देश को कमजोर करने का मंसूबा है। मोदी ने आरोप लगाया विपक्षी दल इस आंदोलन को हवा दे रहे हैं और विरोध करने वाले लोग संविधान और राष्ट्रध्वज का छदम प्रदर्शन करते हुए असली मंसूबे को छिपा रहे हैं। मोदी ने कहा कि ये सिर्फ एक कानून का विरोध होता, तो सरकार के तमाम आश्वासनों के बाद समाप्त हो जाता। लेकिन आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस नागरिकों को भड़का रहे हैं। संविधान और तिरंगे को सामने रखते हुए ज्ञान बांटा जा रहा है और असली साजिश से ध्यान हटाया जा रहा है।

भाजपा उम्मीदवारों के लिए वोट की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों के वोट ने देश बदलने में मदद की है और अब वह अपनी दिल्ली को आधुनिक और सुरक्षित बनाने में भी सहयोग करेंगे। ये चुनाव एक ऐसे दशक का पहला चुनाव है, जो 21वीं सदी के भारत और उसकी राजधानी का भविष्य तय करेगा। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी का भारत, नफरत की राजनीति से नहीं, विकास की राष्ट्रनीति से चलेगा। विकास की यही राष्ट्रनीति देश को गति भी देती और देश को नई ऊंचाई पर भी ले जाती है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दिल्ली में अवैध कॉलोनियों की एक बहुत बड़ी समस्या थी। आजादी के बाद से ही, किसी ना किसी रूप से ये मामला लटका हुआ था। पिछली सरकारों पर वोट के लिए इन्हें लटकाने का आरोप लगाते हुए कहा कि वादे किए जाते थे, तारीख दी जाती थी, लेकिन समस्या को सुलझाता कोई नहीं था। उन्होंने कहा कि दिल्ली के 40 लाख से ज्यादा लोगों, जिसमें बड़ी संख्या में यहां पूर्वी और उत्तर-पूर्वी दिल्ली के लोग हैं, उन्हें उनके जीवन की सबसे बड़ी चिंता से हमारी सरकार ने मुक्त किया है।

मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने सोचा नहीं था कि वो अपने जीवन में कभी अपने घर की रजिस्ट्री करा सकेंगे, अब वो अपने घर का सपना सच होते हुए देख रहे हैं। दिल्ली भाजपा ने संकल्प लिया है, अपने घोषणा पत्र में कहा है कि, इन कॉलोनियों के तेज विकास के लिए कॉलोनीज़ डेवलपमेंट बोर्ड बनाया जाएगा। यही नहीं, “जहां झुग्गी वहां पक्का घर” भी बनेगा। झुग्गी में रहने वाले परिवारों को पक्का घर देने के लिए तेज़ी से काम किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने लोकपाल को लेकर दिल्ली सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि पहली बार, देश को लोकपाल भी मिला। वैसे देश के लोगों को तो लोकपाल मिल गया लेकिन दिल्ली के लोग आज भी इंतजार कर रहे हैं। इतना बड़ा आंदोलन, इतनी बड़ी-बड़ी बातें, उन सबका क्या हुआ।

error: Content is protected !!