Breaking News
Donate Now

30 जून से पहले निपटा लें ये 6 जरूरी काम, रहेंगे फायदे में

केंद्र सरकार ने जून की शुरूआत में जहां कई छूट के साथ Unlock 1/लॉकडाउन 5 जारी किया. वहीं, इसी माह के अंत में कुछ वित्तीय डेडलाइंस पूरे होने जा रहे है. अत: 30 जून के पहले आपको कुछ चीजें अपडेट करनी होंगी और नियमों का पालन करना होगा. आपको बता दें कि फिलहाल केंद्र सरकार इसी सोमवार से देशभर में और कई सेक्टर में ढील देने की तैयारी कर चुकी है. इस दौरान मंदिर, मॉल समेत अन्य सेक्टर को खोलने की घोषणा की जा सकती है.

30 जून से पहले निपटा लें

पैन-आधार लिंक

कोरोना और लॉकडाउन के कारण पैन को आधार से लिंक करने की तारीखों में हाल ही में बदलाव किया गया था. इसे 31 मार्च से बढ़ाकर 30 जून कर दिया गया है. अत: इससे पहले आपको इसे लिंक करवा लेना होगा.

टैक्स छूट पाने के लिए निवेश

इसी तरह आयकर विभाग ने आईटीआर दाखिल करने की तारीखों में भी बड़ा बदलाव किया था. जिसके अनुसार वित्त वर्ष 2019-20 का ITR 31 जुलाई के वजाय 30 नवंबर तक भरा जा सकता है. वहीं, विभाग ने टैक्स बचाने के आयकर कानून की धारा 80सी, 80डी, 80ई के तहत निवेश की समय सीमा भी 30 जून तक बढ़ाई है. अत: इच्छुक लोग इससे पहले अपना निवेश कर सकते हैं.

2018-19 का आईटीआर

वर्ष 2018-19 के लिए आईटीआर रिटर्न भरने तथा रिवाइज्ड आईटीआर की अंतिम तारीख भी 30 जून तक ही है. जिसे कोरोना के कारण 31 मार्च से आगे बढ़ा दिया गया था.

फॉर्म-16 लेने की तारीखों में बदलाव

कंपनी की ओर से 16 मई तक फॉर्म-16 हर हाल में जारी कर दिया जाता था. जिसके समय में बदलाव के साथ अब कर्मचारियों को यह फार्म कंपनी की ओर से 15 जून से 30 जून के बीच दे दिया जायेगा. आपको बता दें कि फॉर्म 16 एक तरह का टीडीएस सर्टिफिकेट है, जो आईटीआर भरने के काम आता है.

सेविंग्स अकाउंट में न्यूनतम राशि

सुकन्या समृद्धि खाता हो या फिर पीपीएफ अकाउंट, अगर इसमें आपने राशि नहीं जमा की है तो 30 जून से पहले कर दें, वरना फाइन भी वसूला जा सकता है. आपको बता दें कि यह जानकारी उनके लिए है जिन्होंने 31 मार्च 2020 तक इन खातों में कोई न्यूनतम राशि जमा नहीं की है.

पीपीएफ खाता हो गया है मैच्योर

अगर आप अपने पीपीएफ अकाउंट को अगले पांच साल तक बढ़वाना चाहते हैं अर्थात अगर आपका पीपीएफ खाता 31 मार्च से पहले मैच्योर हो गया है तो इसे डाक विभाग के नये गाइडलाइन के अनुसार आप 30 जून तक करवा सकते हैं.

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com