Sunday , January 26 2020
Home / education / लखनऊ में शुक्रवार को कक्षा आठ तक के स्कूल रहेंगे बंद

लखनऊ में शुक्रवार को कक्षा आठ तक के स्कूल रहेंगे बंद

 

लखनऊ। राजधानी में अत्यधिक ठंड व तेज़ शीतलहर को देखते हुए प्री प्राइमरी से कक्षा 8 तक के सभी बोर्ड के सभी विद्यालय शुक्रवार को भी बंद करने के आदेश दिए गए हैं।

जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने सभी स्कूल प्रबंधतंत्र से आदेश का पालन करने को कहा है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही कक्षा 9 से 12 तक की कक्षाएं शुक्रवार प्रातः दस से अपराह्न तीन बजे के बीच में संचालित की जाएंगी।

इससे पहले लगातार बारिश और मौसम के बदलते मिजाज को देखते हुए गुरुवार को भी प्री प्राइमरी से लेकर कक्षा आठ तक के विद्यालय बंद किए गए थे। पहाड़ो पर बर्फबारी के कारण पूरे प्रदेश में शीतलहर का असर देखने को मिल रहा है। गुरुवार को राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के विभिन्न जनपदों में बारिश के कारण जनजीवन पर असर पड़ा। राजधानी में बुधवार रात को बारिश के बाद गुरुवार सुबह भी बारिश के कारण सूरज नजर नहीं आया। दोपहर से लेकर शाम तक पानी बरसता रहा और लोग घरों-दफ्तरों में कैद हो गए। बारिश के कारण सड़कों पर भी यातायात प्रभावित रहा।

आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के निदेशक जे.पी. गुप्ता के मुताबिक अगले चौबीस घंटों में इसी तरह का मौसम रहेगा। शुक्रवार को भी बूंदाबांदी की सम्भावना है। राजधानी का अधिकतम तापमान में चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई है। इसके अलावा अन्य प्रमुख जनपदों में भी एक से पांच डिग्री तक पारा लुढ़का है।

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अगले दो दिनों तक उत्तर भारत में बारिश का मौसम बना रहेगा । उत्तराखंड में भारी हिमपात के कारण उत्तर प्रदेश में तेज़ वर्षा के आसार हैं। अगले चौबीस से अड़तालीस घंटों के दौरान कई जिलों में रुक-रुक कर अच्छी वर्षा होने की सम्भावना बनी हुई है। कुछ स्थानों पर भारी बारिश के साथ ही ओले गिरने और तेज़ हवाओं के साथ बादलों की गर्जना होने की संभावना है। अगले चौबीस घंटों में बरेली, मेरठ, शाहजहांपुर, अलीगढ़, फिरोजाबाद जैसे उत्तर-पश्चिमी जिलों में ओलावृष्टि और तेज़ हवाओं के साथ भारी बारिश भी हो सकती है। कुछ स्थानों पर बिजली गिरने की भी संभावना है।

पिछले चौबीस घंटों के दौरान लखनऊ में 39 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। इसके अलावा झांसी में 16.6 मिमी, हरदोई में 13.4 मिमी, बहराइच में 6.8 मिमी, कानपुर में 4.2 मिमी और आगरा में 3.2 मिमी बरसात दर्ज की गई है। वहीं कृषि विज्ञानियों के मुताबिक लगातार हो रही बारिश फसलों के लिए नुकसान का कारण बन सकती है। हल्की बारिश से आलू, सरसों की फसलों में रोग लगने से उनको नुकसान पहुंचेगा।

TwitterFacebookLinkedInWhatsAppEmailTumblr
Loading...

Check Also

मेरठ में उमड़े देश भर से आए किन्नर, कलश यात्रा में झूम-झूम कर नाचे

  मेरठ। किन्नरों की अपनी एक अलग ही दुनिया है। जिसमें ना जात-पात के बंधन …

TwitterFacebookLinkedInWhatsAppEmailTumblr

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com