Breaking News
Donate Now

Reliance तैयार कर रहा एक लाख डॉक्टरों का नेटवर्क, जल्द मिलेगी ये शानदार सुविधा

Reliance इंडस्ट्रीज के स्वामित्व वाले नोफ्लोअट्स कंपनी ने बुधवार को टेली-मेडिसिन के क्षेत्र में अपने पांव पसारने की घोषणा की है. जिसमें अगले 3-4 महीनों में 1 लाख डॉक्टर जोड़े जायेंगे. इस टेली-मेडिसिन सुविधा के जरिये मरीजों को चिकित्सकीय परामर्श दी जायेगी.

दरअसल, टेलीमेडिसिन एक ऑनलाइन चिकित्सकीय सुविधा है जिसके जरिये, मरीज घर बैठे एक्सपर्ट डॉक्टरों से रोगों के बारे में सहाल ले सकते हैं. डॉक्टर मरीजों के लक्षण को जानकर यह सहाल देते हैं. आपको बता दें कि कोरोना और लॉकडाउन के वजह से अन्य स्वास्थ्य सेवाएं काफी बाधित हुई थी.

लोग अपना रेगुलर चेकअप भी करवाने के लिए ओपीडी नहीं जाना चाह रहे थे और संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार द्वारा भी इसे कुछ दिनों के लिए रद्द किया गया था. इसी के बाद से टेलीमेडिसिन का दौर बढ़ा है. हालांकि, दुनियाभर में पहले से ही यह व्यवस्था प्रचलित है.

कंपनी नोफ्लोअट्स की मानें तो उनके पास फिलहाल 6,000 डॉक्टरों की टीम है और उन्हीं के साथ टेलीमेडिसिन सेवा की शुरूआत की जाएगी. जिसमें ऑनलाइन वीडियो पर मरीजों को परामर्श दिया जाएगा. कंपनी ने धीरे-धीरे अन्य योजनाओं के तरफ बढ़ने की बात भी कही है. ईटी में छपी खबर के मुताबिक ई-फार्मेसी, स्वास्थ्य जांच और स्वास्थ्य सेवा से संबंधित सेवाओं का भी धीरे-धीरे विस्तार किया जाएगा.

नॉफ्लोअट्स के प्रमुख अनुसंधान, निखिल सलकर के अनुसार मरीजों को डॉक्टरों से सलाह लेने के लिए किसी ऐप को डाउनलोड करने की आवश्यकता नहीं होगी. उन्हें व्हाट्सएप या किसी अन्य मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर एक लिंक मिल जाएगा. जिसे एक्सेस करते ही ये सेवाएं ली जा सकती हैं.

उन्होंने कहा कि कंपनी ने ऐसी तकनीक विकसित की है जिससे मरीजों को नौ मिनट में डॉक्टरों को ऑनलाइन परामर्श मिल पाएगा. इसके अलावा मरीज ऑनलाइन डॉक्टरों की खोज भी कर पाएंगे. उन्होंने कहा कि हमने डॉक्टरों की रेटिंग के आधार पर सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन कर रखा है. जिसके जरिये लोग अपने पसंदीदा डॉक्टरों से ऑनलाइन परामर्श ले सकते हैं.

कंपनी इस सेवा के लिए प्रति माह 1,000 रुपये और ऑनलाइन वीडियो परामर्श के लिए 10,000 रुपये का शुल्क लेगी. सलकर ने कहा, ”अभी हमारे प्लेटफॉर्म पर 50,000 एसएमई हैं जिसमें 6,000 डॉक्टर शामिल हैं. इसमें से लगभग 26,000 ऐसे लोग हैं जो वार्षिक सदस्यता शुल्क का भुगतान कर रहे हैं.

error: Content is protected !!