Breaking News

गन्ने से बनने वाले गुड़ को इंडस्ट्री का दर्जा देने की तैयारी

-50 प्रतिशत अनुदान भी देगी राज्य सरकार
-बिहार दर्जा देने वाला होगा देश का पहला राज्य

-गन्ना मंत्री बोले- जल्द कैबिनेट में पेश होगा प्रस्ताव

पटना। गन्ने से बनने वाली गुड़ को उद्योग का दर्जा देने की तैयारी शुरू की गई है। बिहार देश का पहला राज्य होगा, जहां गन्ने से बनने वाली गुड़ उत्पादन को उद्योग का दर्जा मिल सकता है। बताया जा रहा है कि इसकी तैयारी राज्य सरकार ने शुरू कर दी है। बिहार सरकार राज्य की ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए यह कदम उठाने जा रही है।

इसके तहत जो भी गन्ना उत्पादक या गन्ने से जुड़े व्यवसायी इस उद्योग को शुरू करना चाहेंगे उन्हें सरकार 50 प्रतिशत अनुदान भी देगी। साथ ही जो गुड़ का उत्पादन होगा उसका बाजार तैयार करने में भी सरकार मदद करेगी। राज्य सरकार गुड़ को बिहार के तमाम बड़े मॉल के साथ-साथ बड़े शॉपिंग सेंटर में भी नए कलेवर में लाने की कोशिश करेगी।

गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार ने बताया कि बहुत जल्द कैबिनेट में इस योजना को पेश कर मंजूरी देने की कोशिश सरकार करने वाली है। मंत्री ने बताया कि बिहार के कई जिलों में गन्ना का उत्पादन होता है। खासकर उत्तर बिहार के चंपारण, गोपालगंज, सिवान, सारण सहित कई और जिलों में बड़े पैमाने पर गन्ने से गुड़ का उत्पादन किसान करते हैं। बिहार के गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार ने बताया कि गन्ने से गुड़ उत्पादन को उद्योग का दर्जा दिए जाने का प्रस्ताव बिहार कैबिनेट में जल्द ही लाया जा सकता है।

प्रमोद कुमार ने बताया कि अगर ऐसे में गुड़ उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए सरकार गुड़ को उद्योग का दर्जा देती है तो बिहार के गन्ना किसानों की किस्मत बदल जाएगी। यही नहीं गुड़ उत्पादन को इंडस्ट्री का दर्जा मिलने से बड़े पैमाने पर रोजगार का भी सृजन होने होगा, जिसका फ़ायदा बिहार के किसानों को होगा। साथ ही बिहार की ग्रामीण अर्थव्यवस्था में भी बड़ा बदलाव आने की संभावना बढ़ जाएगी।