Breaking News
Donate Now

अब आईपीएल से चीनी कंपनियों को बाहर करने की उठी मांग, इस टीम के मालिक ने कही ये बात

केंद्र सरकार की ओर से अभी एक दिन पहले ही चीन के 59 ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया गया है। वहीं अब इसके बाद चीनी कंपनियों के बहिष्कार की मांग आईपीएल फ्रेंचाइजी तक पहुंच चुकी है। दरअसल मंगलवार को आईपीएल फ्रेंचाइजी किंग्स इलेवन पंजाब और चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से आईपीएल से चीनी कंपनियों को बाहर करने की मांग की गई है।

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम के मालिक नेस वाडिया ने कहा है कि आईपीएल में से चीनी कंपनियों के प्रायोजन को खत्म किया जाए। दरअसल गलवान घाटी में भारत और चीन की सेना के बीच हुई हिंसक झड़प और उसमें 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद बीसीसीआई को चीनी कंपनियों द्वारा प्रायोजन की समीक्षा के लिए आईपीएल संचालन परिषद की बैठक बुलानी पड़ी थी।

हालांकि यह बैठक अभी तक नहीं हो पाई है। वहीं अब किंग्स इलेवन पंजाब के मालिक नेस वाडिया ने पीटीआई से कहा है, ‘हमें देश की खातिर आईपीएल में चीन के प्रायोजकों से नाता तोड़ना चाहिए। देश पहले है, पैसा बाद में आता है। यह इंडियन प्रीमियर लीग है, चीन प्रीमियर लीग नहीं है। इसे उदाहरण पेश करना चाहिए और रास्ता दिखाना चाहिए।’

उन्होंने कहा है कि हां शुरुआत में प्रायोजक ढूंढना मुश्किल होगा लेकिन मुझे पता है कि पर्याप्त भारतीय प्रायोजक मौजूद हैं, जो उनकी जगह ले सकते हैं। हमें देश और सरकार का सम्मान करना चाहिए और सबसे महत्वपूर्ण सैनिकों को जो हमारे लिए अपने जीवन को खतरे में डालते हैं। वहीं वाडिया के अलावा सीएसके और अन्य टीमों ने कहा है कि वे सरकार के फैसले को मानेंगी।

सीएसके सूत्रों के मुताबिक शुरुआत में उनकी जगह लेना काफी मुश्किल होगा लेकिन अगर देश की खातिर ऐसा किया जाता है, तो हमें ऐसा करना चाहिए। हालांकि उन्होंने कहा है कि सरकार को फैसला करने दीजिए, जो भी फैसला किया जाएगा, हम उसे मानेंगे।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com