Breaking News
Donate Now

फर्जी निकली चाइनीज एप पर बैन लगाए जाने की खबर, सरकार ने किया इनकार

भारत-चीन की झड़प के बीच सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया गया है कि इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के तहत आने वाले राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र ने Google Play Store और Apple App Store पर कुछ चीनी ऐप्स पर बैन लगाने का निर्देश देते हुए एक आदेश जारी किया है. सरकार ने स्पष्ट किया है कि यह आदेश फर्जी है और ऐसा कोई निर्देश Google या Apple को नहीं दिया गया है.

मैसेज में कहा गया है कि भारत सरकार ने Google और Apple के रीजनल एग्जीक्यूटिव और रिप्रीजेंटेटिव्स को तत्काल प्रभाव से एप प्लेटफॉर्म्स से चीनी एप को बैन करने का निर्देश दिया है. इन ऐप्स में TikTok, VMate, Vigo Video, LiveMe, Bigo Live, Beauty Plus, CamScanner, Club Factory, Shein, Romwe और AppLock शामिल हैं.

इस सूची में मोबाइल लीजेंड्स, क्लैश ऑफ किंग्स और गेल ऑफ सुल्तान्स जैसे लोगों के पसंदीदा गेम भी शामिल हैं. मैसेज में कहा गया है कि इन ऐप्स पर यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा है.

PIB फैक्ट चेक के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल ने इस दावे का खंडन किया और पुष्टि की कि यह आदेश फर्जी है. इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय या राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र द्वारा ऐसा कोई निर्देश नहीं दिया गया है.

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच लद्दाख में LAC पर बढ़ते तनाव और चीनी ऐप्स और उत्पादों पर बैन को लेकर सोशल मीडिया पर फैले गुस्से के दौरान ये फर्जी आदेश आया है. इससे पहले, शिक्षाविद् और इनोवेटर सोनम वांगचुक ने देशवासियों से चीन में बने प्रोडक्ट्स को खंगालने और चीनी ऐप को अनइंस्टाल करने की मांग की थी. वांगचुक ने दावा किया कि चीन जानबूझकर न केवल भारत के साथ बल्कि इस क्षेत्र के कई दूसरे पड़ोसी देशों के साथ अपने घरेलू तनावों को दबाने के लिए सीमा विवाद को उकसा रहा है.

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com