Top
Pradesh Jagran

मिर्जापुर : अब गांवों में तराशे जाएंगे खिलाड़ी

मिर्जापुर : अब गांवों में तराशे जाएंगे खिलाड़ी
X

-अति पिछड़े इलाके हलिया और पटेहरा में बनेगा मल्टीपर्पज हाल

-कबड्डी, कुश्ती जैसी भारतीय खेलों के साथ क्रिकेट की भी दी जाएगी ट्रेनिंग

-इंडोर और आउटडोर खेल की होगी पूरी व्यवस्था

मीरजापुर। अब गांव के खिलाड़ियों को बेहतर ट्रेनिंग के लिए महानगरों की तरफ नहीं जाना होगा। प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार की सहायता से ‘खेलो इंडिया खेलों’ योजना के तहत जिले के अति पिछड़े ब्लाकों हलिया और पटेहरा में खिलाड़ियों को तराशने के लिए 3.5 करोड़ की लागत से मल्टीपर्पज हाल बनवाने का फैसला किया है। लगभग दस बीघा भूमि में इंडोर और आउटडोर दोनों तरह के खेलों के प्रशिक्षण की व्यवस्था होगी।

खेल और खिलाड़ियों को उच्च स्तर बनाने के लिए अब जिला स्तर पर बजट की कमी नहीं रहेगी। केंद्र सरकार की मदद से प्रदेश सरकार ने ‘खेलो इंडिया खेलो’ योजना के तहत प्रत्येक जिले के सर्वाधिक पिछड़े दो ब्लाकों में खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने के लिए मल्टीपर्पज हाल बनवाएगी। इनमें कबड्डी, कुश्ती, खो-खो, हैंडबाल, नेटबाल, टेबल टेनिस व क्रिकेट का भी प्रशिक्षण गांव के युवाओं को दिया जाएगा। स्कूल स्तर पर बेहतर प्रदर्शन करने वाले युवाओं का चयन कर प्रशिक्षिण दिया जाएगा। जिला युवा कल्याण अधिकारी प्रकाश दूबे ने बताया कि मल्टीपर्पज हाल के लिए बजट मिल गया है। जमीन का भी चयन कर लिया गया है। पटेहरा में निर्माण कार्य शीघ्र ही शुरु कराया जाएगा। इसके लिए शासन से कार्यदायी संस्था का भी चयन कर लिया गया है।

हलिया में नहीं मिल पा रही जमीन

जिले के अति पिछड़े हलिया ब्लाक में युवा कल्याण विभाग को मल्टीपर्पज हाल के लिए जमीन ही नहीं मिल पा रही है। पूर्व में जिस स्थान पर एसडीएम लालगंज ने विभाग को दस बीघा जमीन मुहैया कराया था। उस जमीन पर वन विभाग ने अपना दावा ठोक दिया है। इससे मल्टीपर्पज हाल का निर्माण कार्य जमीन के अभाव में खटाई में पड़ता नजर आ रहा है।

गांव के खिलाड़ियों को मिलेगा बेहतर लाभ

शासन की इस योजना से गांव के प्रतिभावान खिलाड़ियों को बेहतर लाभ मिलेगा। जिला युवा कल्याण अधिकारी का कहना है कि खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने के लिए प्रशिक्षक की तैनाती की जाएगी। इससे युवाओं की प्रतिभा निखारने में मदद मिलेगी। बेहतर खिलाड़ियों को स्टेट और नेशनल लेवल पर अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। यहीं नहीं प्रशिक्षण मुत में मुहैया कराया जाएगा। इससे खिलाड़ियों को काफी मदद मिल जाएगी।

Next Story
Share it