Tuesday , November 19 2019
Home / प्रदेश जागरण / मायावती ने पूर्व मंत्री-विधायक सहित सात नेताओं को बसपा से किया निष्कासित

मायावती ने पूर्व मंत्री-विधायक सहित सात नेताओं को बसपा से किया निष्कासित

 

 

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने रविवार को सात वरिष्ठ नेताओं को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। ये सभी आगरा से ताल्लुक रखते हैं और इन पर पार्टी विरोधी गति​विधियों में शामिल होने का आरोप है।

पार्टी ने जिन नेताओं को निष्कासित किया है, उनमें पूर्व विधान परिषद सदस्य सुनील कुमार चित्तौड़, पूर्व मंत्री नारायण सिंह सुमन, उनके पुत्र पूर्व एमएलसी स्वदेश कुमार ऊर्फ वीरू सुमन, पूर्व विधायक कालीचरण सुमन, पूर्व जिलाध्यक्ष भारतेंदु अरुण, मलखान सिंह व्यास और विक्रम सिंह शामिल हैं। बसपा के मुताबिक इन नेताओं के बारे में पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने की दी गई रिपोर्ट की विभिन्न सूत्रों से छानबीन करने के बाद आज इन लोगों को निष्कासित किया गया है। इससे पहले कई बार इन्हें चेतावनी भी दी जा चुकी थी लेकिन इन नेताओं की कार्यशैली में कोई सुधार नहीं आया। इसलिए पार्टी हित में इन नेताओं पर कार्रवाई की है।

आगरा से पूर्व विधायक और बसपा सरकार में उद्यान मंत्री रहे नारायण सिंह सुमन और उनके पुत्र पूर्व एमएलसी वीरू सुमन को वर्ष 2016 में भी मायावती ने निष्कासित कर दिया था। इस वर्ष लोकसभा चुनाव के बाद दोनों ने एक बार पार्टी में वापसी की, लेकिन उन्हें फिर बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। उपचुनाव में करारी हार के बाद बसपा सुप्रीमो पार्टी संगठन को मजबूत करने में जुटी हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने का आह्रवान किया है। इसलिए जहां पार्टी में सक्रिय नहीं रहने वाले नेताओं को चेतावनी देने से लेकर विरोधी गतिविधियों में लिप्त लोगों को बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है। वहीं विभिन्न पदाधिकारियों की जिम्मेदारी नये सिरे से परिभाषित की जा रही है।

हाल ही में वह कोऑर्डिनेटर, मंडल व जोन व्यवस्था भंग कर सेक्टर व्यवस्था लागू कर चुकी हैं। इसके तहत पार्टी संगठन में बड़ा बदलाव करते हुए प्रदेश के 18 मंडलों को चार सेक्टरों में बांट दिया गया है, जिसमें दो सेक्टरों में पांच-पांच मंडल तथा दो सेक्टरों में चार-चार मंडल शामिल किए गये हैं। पांच मंडलों वाले सेक्टरों में से एक मंडल में लखनऊ, बरेली, मुरादाबाद, सहारनपुर तथा मेरठ मंडल को और दूसरे सेक्टर में आगरा, अलीगढ़, कानपूर, चित्रकूट और झांसी मंडल को शामिल किया गया है। इसी तरह चार मंडल वाले सेक्टरों में एक सेक्टर में इलाहबाद, मिर्जापुर, फैजाबाद तथा देवीपाटन मंडल शामिल हैं तो दूसरे सेक्टर में वाराणसी, आजमगढ़, गोरखपुर तथा बस्ती मंडल को शामिल किया गया है।

Loading...

Check Also

दिल्ली सरकार ने पांच साल में प्रदूषण से निपटने के लिए कुछ नहीं किया : गौतम गंभीर

  नई दिल्ली । पूर्व क्रिकेटर एवं पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com