Top
Pradesh Jagran

पीएम मोदी ने देश को किया सम्बोधित,वैक्सीनेशन पर जोर,लॉकडाउन की उम्मीद नहीं

पीएम मोदी ने देश को किया सम्बोधित,वैक्सीनेशन पर जोर,लॉकडाउन की उम्मीद नहीं
X

कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में बेड, वेंटिलेटर, रेमडेसिविर और ऑक्सीजन की किल्लत है। वहीं देश में मंगलवार को बीते 24 घंटों में 2.56 लाख से अधिक नए कोरोना मरीज मिले और करीब 1,757 लोगों की संक्रमण के चलते जान चली गई है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अमेरिका ने अपने नागरिकों को भारत की यात्रा नहीं करने की सलाह दी है।कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए पीएम मोदी ने आज देश को अपना सम्बोधन दिया।

पीएम मोदी के सम्बोधन की ख़ास बातें

  • इस दौरान उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि देश को लॉकडाउन से बचाना है। उन्होंने राज्य सरकारों से भी इसे अंतिम विकल्प मानने की अपील की। साथ ही उन्होंने श्रमिकों से भी अपील का है कि आप जहां हैं, वहीं रहें। जल्द ही टीकाकरण अभियान चलने वाला है।
  • मेरा युवा साथियों से अनुरोध है की वो अपनी सोसायटी में, मौहल्ले में, अपार्टमेंट्स में छोटी छोटी कमेटियाँ बनाकर COVID अनुशासन का पालन करवाने में मदद करे। हम ऐसा करेंगे तो सरकारों को न कंटेनमेंट ज़ोन बनाने की ज़रुरत पड़ेगी, न कर्फ़्यू लगाने की, न लॉकडाउन लगाने की
  • ऑक्सीजन प्रॉडक्शन और सप्लाई को बढ़ाने के लिए भी कई स्तरों पर उपाय किए जा रहे हैं। राज्यों में नए ऑक्सीजन प्लांट्स हों, एक लाख नए सिलेंडर पहुंचाने हों, औद्योगिक इकाइयों में इस्तेमाल हो रही ऑक्सीजन का मेडिकल इस्तेमाल हो, ऑक्सीजन रेल हो, हर प्रयास किया जा रहा है।
  • बीते दिनों में जो फैसले लिए गए हैं, उससे आने वाले समय में स्थिति सुधरेगी। ऑक्सीजन की समस्या को दूर करने के लिए तेजी से काम किए जा रहे हैं। इसके लिए राज्य सरकार, केंद्र सरकार और प्राइवेट प्लेयर साथ मिलकर काम कर रहे हैँ।
  • प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले साल कोरोना के मामले सामने आए ही थे तभी हमारे देश में कोरोना के खिलाफ प्रभावी वैक्सीन पर काम शुरू कर दिया गया था। आज दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन भारत में है।
  • प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार देश में जैसे की कोरोना के मामले बढ़े, दवाओं का उत्पादन भी बढ़ा। उन्होंने कहा कि आज पहले के मुकाबले कई गुना ज्यादा दवाइयों का उत्पादन हो रहा है, इसे और तेज किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कोरोना संकट में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों का आभार जताया।


Next Story
Share it