Top
Pradesh Jagran

CBSE Board Exam टालने पर बन सकती है राय,PM मोदी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री के साथ बुलाई बैठक

CBSE Board Exam टालने पर बन सकती है राय,PM मोदी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री के साथ बुलाई बैठक
X

देश में कोरोना का संक्रमण तेज़ी से बढ़ रहा है और ऐसे में इस साल होने वाले सीबीएसई परीक्षा को लेकर दबाव बढ़ रहा है.आज से करीब तीन हफ्ते बाद बोर्ड एग्जाम हैं.इसे लेकर अब मंत्रालय लेवल पर मीटिंग का दौर चल रहा है। इस बोर्ड को करवाने के सुरक्षित तरीकों पर विचार हो रहा है.बोर्ड एग्जाम की तारीख बढ़ाने की संभावना तलाशी जा रही है। सीबीएसई के लिए महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब समेत कई राज्यों में एग्जाम रखना बड़ी चुनौती है, क्योंकि इन कई राज्यों में खराब स्थिति की वजह से राज्य बोर्ड एग्जाम भी आगे खिसका दिए गए हैं।


आज सीबीएसई परीक्षाओं को लेकर पीएम मोदी, केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और अन्य अधिकारियों के साथ मुलाकात करेंगे। एएनआई के मुताबिक आज दोपहर 12 बजे पीएम मोदी इस बैठक में हिस्सा लेंगे, जिसमें चार मई से शुरू होने वाली सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं को लेकर चर्चा होगी।

परीक्षा को आगे बढ़ाने की मांग

सीबीएसई के 10वीं और 12वीं क्लास के एग्जाम 4 मई से शुरू होंगे और 30 लाख से ऊपर स्टूडेंट्स बोर्ड एग्जाम देंगे। कोविड की दूसरी लहर में तेजी से बढ़ते मामलों के बीच सीबीएसई बोर्ड एग्जाम कैंसल करने के लिए दिल्ली के सीएम, डिप्टी सीएम मंगलवार को केंद्र सरकार से अपील कर चुके हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार ने भी राज्य बोर्ड के एग्जाम पोस्टपोन करने के साथ सीबीएसई, सीआईएससीई से एग्जाम का शेड्यूल बदलने की अपील की है। पंजाब सरकार भी परीक्षा को आगे टालने की अपील कर चुकी है.

इन राज्यों ने बोर्ड परीक्षाएं स्थगित की

सबसे पहले उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UPMSP) ने 24 अप्रैल से शुरू होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है। उसके बाद महाराष्ट्र में भी बोर्ड परीक्षाओं की तिथियां आगे बढ़ा दी गई हैं और अब मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री ने भी परीक्षाएं स्थगित करने की घोषणा कर दी है।

सीबीएसई ने कहा.

सीबीएसई के अधिकारियों ने अभी तक की योजना में किसी भी तरह के बदलाव से इनकार किया और जोर दिया कि परीक्षा केंद्रों में 50 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि कर सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने की व्यवस्था की जा रही है। बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि परीक्षाएं रद्द नहीं की जा सकतीं क्योंकि इनकी प्रकृति महत्वपूर्ण हैं और इन्हें ऑनलाइन आयोजित नहीं किया जा सकता।

Next Story
Share it