Top
Pradesh Jagran

Indian Railway:Lockdown के डर से ट्रेनों में दिखी जबरदस्त भीड़,बंद हुई ये ट्रेन भी

Indian Railway:Lockdown के डर से ट्रेनों में दिखी जबरदस्त भीड़,बंद हुई ये ट्रेन भी
X

देश में एक बार फिर कोरोना संक्रमण अपने पैर तेज़ी से पसारने लगा है.कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकारों ने पाबंदियां बढ़ना शुरू कर दी है. कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है. कुछ शहरों में पूर्ण लॉकडाउन तो कुछ में वीकेंड लॉकडाउन की घोषणा की जा चुकी है. इन सबक बीच भारतीय रेल पर भी भारी दबाव बढ़ने लगा है.

तेजस एक्सप्रेस अगले आदेश तक रद्द

रेलवे ने मुंबई सेंट्रल से अहमदाबाद के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस का संचालन एक महीने के लिए बंद कर दिया। इन सबको देखते हुए कयास लगाए जा रहे हैं की क्या फिर से ट्रेनें संचालित नहीं होंगीं। देश की पहली प्राइवेट ट्रेन लखनऊ-नई दिल्ली-लखनऊ (82501 /82502) तेजस एक्सप्रेस 9 अप्रैल से अगले आदेश तक के लिए रद्द करने का निर्णय लिया गया है. रेलवे ने कोरोना महामारी के चलते लगाए गए लॉकडाउन के बाद तेजस एक्सप्रेस को 14 फरवरी से फिर से चलाने का फैसला लिया था. ये ट्रेन हफ्ते में 4 दिन शुक्रवार, शनिवार, रविवार और सोमवार को चलाई जा रही थी.


लॉकडाउन के डर से बढ़ा पलायन,ट्रेनों में बढ़ी भीड़

लॉकडाउन के डर के चलते एक बार फिर प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू हो गया है। ये लोग काम करने वाले स्थानों से अपने घर लौटने लगे हैं। मुंबई में लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्टेशन से यूपी जाने वाली ट्रेनों के जनरल डिब्बे में पैर रखने की जगह नहीं है। लोग एक-दूसरे के ऊपर सवार होकर यात्रा कर रहे हैं। ये ट्रेनें सुपर स्प्रेडर बन सकती हैं और संक्रमण का खतरा और बढ़ सकता है। माना जा रहा है ये भीड़ ट्रेनों के सञ्चालन के बंद होने के डर से भी है.

रेलवे ने दिया बयान

इस संबंध में इंडियन रेलवे की ओर से एक ताजा बयान सामने आया है. रेलवे बोर्ड ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर साफ किया कि इंडियन रेलवे का ट्रेनों को रोकने या उस पर पाबंदी लगाने की अभी कोई योजना नहीं है. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा कि जो लोग यात्रा करना चाहते हैं, उनके लिए ट्रेनों की कोई कमी नहीं है. मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि मांग के अनुसार ट्रेनें चलाईं जाएंगी. इन महीनों में रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की संख्या सामान्य देखी गई, हम जरूरत के अनुसार ट्रेनों की संख्या बढ़ाएंगे.


नहीं चाहिए नेगेटिव रिपोर्ट

हाल ही में खबर आयी थी कि अब ट्रेन के सफर के लिए अब कोविड नेगेटिव रिपोर्ट की जरूरत होगी. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने आश्वस्त किया कि महाराष्ट्र में जिन मजदूरों के पलायन की बात कही जा रही है वो पलायन नहीं है बल्कि ये रेलवे के सामान्य यात्री हैं. नाइट कर्फ्यू से बचने के लिए ये जल्दी स्टेशन पहुंच जाते हैं, जिसकी वजह से भीड़ दिखाई दे रही है. यहां ट्रेनों की आवाजाही रोकने या कम करने के लिए अभी तक कोई आधिकारिक अनुरोध नहीं मिला है.

प्लेटफॉर्म टिकट की बिक्री पर रोक

स्टेशनों पर लगातार बढ़ती भीड़ को देखते मुंबई के कई रेलवे स्टेशनों लोकमान्य तिलक टर्मिनस, कल्याण, ठाणे, दादर, पनवेल, छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर आज तत्काल प्रभाव से प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री बंद कर दी गई है.

Next Story
Share it