Top
Pradesh Jagran

कोरोना काल में यूपी में हुआ इतने हज़ार करोड़ का निवेश,खुलेंगे रोज़गार के अवसर

कोरोना काल में यूपी में हुआ इतने हज़ार करोड़ का निवेश,खुलेंगे रोज़गार के अवसर
X

उत्तर प्रदेश सरकर कोरोना संकट के काल में भी आौद्योगिक विकास की गति को और तेजी से आगे बढ़ाने में लगी है। औद्योगिक नगरी नोएडा में अडानी इन्टप्राइजेज लि0, डिक्सन टेक्नालाॅजी इण्डिया लि0 सहित 13 निवेशकों को लगभग 199848 वर्गमीटर भूमि के आवंटन की संस्तुति प्रदान कर दी गई है। इससे नोएडा क्षेत्र में 3870 करोड़ रुपये का पंूजी निवेश होगा और लगभग 48512 लोगों को रोजगार के अवसर सुलभ होंगे।

अडानी ग्रुप बनाएगा डाटा सेंटर

यह जानकारी औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने आज यहां दी। उन्होंने बताया कि विश्व की अग्रणी कम्पनी अडानी ग्रुप को नोएडा क्षेत्र में 39146 वर्गमीटर का भूखण्ड आवंटित किया गया है। अडानी ग्रुप द्वारा इस भूमि पर 2500 करोड़ रुपये के लागत से डाटा सेन्टर स्थापित किया जायेगा। नोएडा में डाटा सेंटर स्थापित होने से क्षेत्र के विकास को गति मिलेगी। साथ-साथ प्रत्यक्ष रूप में 1160 और अप्रत्यक्ष तौर से बड़ी संख्या में लोगांे को रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार देश की अग्रणी इलेक्ट्रानिक मैन्युफैक्चरिंग कंपनी डिक्सन टेक्नालाॅजी इण्डिया लि0 को मोबाईल फोन उत्पादन की परियोजना स्थापित करने हेतु नोएडा के सेक्टर-151 में 21000 वर्गमीटर भूखण्ड आवंटित किया गया है।

नौ हज़ार लोगों को मिलेगा रोज़गार

डिक्सन टेक्नालाॅजी 270 करोड़ रुपये का निवेश करेगी और इससे करीब 9000 लोगों को रोजगार के अवसर सुलभ होंगे। उन्होंने बताया कि अग्रवाल एसोसिएट्स प्रमोटर्स लि0 को भी नोएडा के सेेक्टर-140 में 280 करोड़ रूपये के निवेश से आई0टी/आई0टी0ई0एस0 पार्क की स्थापना हेतु 55000 वर्गमीटर क्षेत्रफल का भूखण्ड दिया गया है। इस परियोजना के पूर्ण होने पर लगभग 30 हजार रोजगार का सृजन होगा।

कई तरह के होंगे उत्पादन

महाना ने बताया कि इनके अलावा वेबटेक्स्ट प्रोजेक्ट प्रा0 लि0, इक्काइन टेक न्यूट्री केयर, आरएएफ स्टेशनरी मैन्युफैक्चरिंग कंपनी, रोटो पम्पस लिमिटेड, के0के0 फै्रग्रन्स, सावि लेदरर्स, मिठास स्वीट्स एण्ड रेस्टोरेंट, एडोराटेक्स, वेस्टवे इलेक्ट्रानिक्स तथा धामपुर एल्को केमिकल प्रा0 लि0 को भी भूमि आवंटित कर दी गई है। यह कम्पनियां मोबाइल फोन, टेलीविजन, वाशिंग मीशन, लैपटाॅप, एयर कन्डीशन, होम टेक्सटाइल्स, फर्नीचर, हैण्डीग्राफ्ट, माउथ फ्रेशर, मिठाईयां, खाद्य प्रसंस्करण, चीनी तथा गुड के उत्पाद, पशु आहार, पेपर प्रोडेक्ट्स एवं रेडीमेड गारमेंट सहित भिन्न-भिन्न प्रकार के उत्पाद का उत्पादन करेंगी। उन्हांेने बताया कि योजना में विभिन्न क्षेत्रफल श्रेणियों में भूखण्ड आवंटन हेतु कुल 66 आवेदन पत्र प्राप्त हुए थे। सभी का साक्षात्कार हुआ। साक्षात्कार तथा निर्धारित आॅब्जेक्टिव क्राईटेरिया के आधार पर आवंटन समिति द्वारा दिये गये अंको के आधार पर भूखण्ड का आवंटन किया गया है।

1300 करोड़ का होगा निवेश

महाना ने बताया कि इसके अतिरिक्त विभिन्न जनपदों में 15 अन्य निवेशकों को भूमि आवंटन की कार्यवाही तीव्र गति से चल रही है। इससे लगभग 13400 करोड़ का निवेश होगा और बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार भी मिलेगा। उन्होंने बताया कि इसमें माइक्रोसाफ्ट इण्डिया नोएडा में 2500 करोड़ रुपये के निवेश से आईटी/आईटीईएस प्रोजेक्ट परिसर स्थापित करेगी। इसके लिए कंपनी द्वारा भूमि चिन्हित की जा चुकी है। भूमि का आवंटन जल्द ही कर दिया जायेगा। कंपनी ने 60 हजार वर्गमीटर भूमि के आवेदन किया है। इस परियोजना के शुरू होने से लभग 3500 लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

हीरानंदानी ग्रुप द्वारा 6000 करोड़ रुपये का निवेश

महाना ने बताया कि इसी प्रकार ग्रेटर नोएडा में हीरानंदानी गु्रप द्वारा 6000 करोड़ रुपये का निवेश कर गु्रप डाटा सेंटर स्थापित किया जायेगा। नेटमैजिक आईटी सर्विसेस 1500 करोड़ रुपये से डाटा सेंटर, संकवांग इण्डिया इलेक्ट्रानिक्स 318 करोड़ की लागत से मोबाइल फोन कवर का प्लांट तथा अंबिका इन्फ्राटेक 225 करोड़ रुपये की लागत से मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट लगायेगी। उन्होंने बताया कि नोएडा में एसटीटी जीडीसी डाटा सेंटर के लिए 900 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इसके अतिरिक्त यमुना औद्योगिक क्षेत्र में सूर्या ग्लोबल 953 करोड़ रुपये, जेके सीमेंट हमीरपुर में 384 करोड़ रुपये, एसोसिएटेड ब्रिटिश फूड्स चित्रकूट में 375 करोड़ रुपये, लेट्रिक वोव आगरा में 300 करोड़ रुपये, ब्रिटानियां बाराबंकी में 300 करोड़ रुपये, फाॅरइवर डिस्टलरी देवरिया में 185 करोड़ रुपये, गोदरेज एग्रो बाराबंकी में 70 करोड़ रुपये सीएचडब्ल्यू डासना गाजियाबाद में 50 करोड़ तथा वेस्टवे इलेक्ट्रानिक्स नोएडा में 25 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है।

Next Story
Share it