Top
Pradesh Jagran

बंगल चुनाव:चुनाव आयोग ने दिखाई सख्ती,ममता पर लगाया 24 घंटे का बैन तो बीजेपी के इन नेताओं से माँगा जवाब

बंगल चुनाव:चुनाव आयोग ने दिखाई सख्ती,ममता पर लगाया 24 घंटे का बैन तो बीजेपी के इन नेताओं से माँगा जवाब
X

पश्चिम बंगाल में चुनाव की सरगर्मी दिन ब दिन बढ़ती जा रही है.इस बीच चुनाव आयोग ने भी सख्ती दिखते हुए TMC सुप्रीमों और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर चुनाव में प्रचार करने को 24 घंटे की रोक लगा दी है.इस बात से नाराज ममता भड़क गयीं है और चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ धरने पर बैठ गयीं है.साथ ही, ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी ने भी फैसले का विरोध किया है।

चुनाव आयोग के खिलाफ ममता बनर्जी के धरने के अहम मायने हैं। वह धरना स्थल पर वीलचेयर पर बैठी हुई हैं। उनके सामने एक टेबल रखी हुई है और वह एक नोट पैड पर पेंटिंग बना रही हैं। आयोग ने ममता बनर्जी को भड़काऊ भाषण देने के मामले में आरोपी माना था।


धार्मिक बयान को लेकर चुनाव आयोग सख्त

बता दें कि चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी के केंद्रीय बलों के खिलाफ बयानों और कथित धार्मिक प्रवृत्ति वाले एक बयान के लिए उनके 24 घंटे तक चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है। निर्वाचन आयोग के आदेश के अनुसार, ''आयोग पूरे राज्य में कानून व्यवस्था की गंभीर समस्याएं पैदा कर सकने वाले ऐसे बयानों की निंदा करता है और ममता बनर्जी को सख्त चेतावनी देते हुए सलाह देता है कि आदर्श आचार संहिता प्रभावी होने के दौरान सार्वजनिक अभिव्यक्तियों के दौरान ऐसे बयानों का उपयोग करने से बचें।''

बीजेपी के राहुल सिन्हा पर 48 घंटे का बैन

चुनाव आयोग एक्शन में नजर आ रहा है और विवादित बयानबाजी को लेकर बीजेपी नेता राहुल सिन्हा` पर चुनाव प्रचार करने से 48 घंटों का बैन लगा दिया है. उन पर सशस्‍त्र बलों के संबंध में आपत्तिजनक बयान देने के आरोप हैं. अब राहुल सिन्‍हा अगले 48 घंटे तक चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगे.

इसके साथ ही चुनाव आयोग ने बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी को चेतावनी दी है और दिलीप घोष को भी नोटिस जारी किया है. शुभेंदु अधिकारी पर 29 मार्च को आपत्तिजनक भाषण देने का आरोप है. उन्‍होंने इस संबंध में 9 अप्रैल को चुनाव आयोग को जवाब भेजा है.

वहीं पश्चिम बंगाल के बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष को चुनाव आयोग ने बुधवार सुबह 10 बजे तक का समय दिया है. चुनाव आयोग ने उनसे कूच बिहार में हुई हिंसा पर दिए बयान पर स्‍पष्‍टीकरण मांगा है.

Next Story
Share it