Top
Pradesh Jagran

हरिद्वार महाकुम्भ: आज है तीसरा शाही स्नान,कोरोना के चलते ऐसी हैं तैयारियां

हरिद्वार महाकुम्भ: आज है तीसरा शाही स्नान,कोरोना के चलते ऐसी हैं तैयारियां
X

हरिद्वार में चल रहे कुंभ के अंतर्गत बुधवार को बैसाखी मेष संक्रांति के मौके पर तीसरा शाही स्नान होगा. इस दौरान 13 अखाड़ाें के साधु संत इसमें स्नान में हिस्सा लेंगे. जानकारी के अनुसार ये स्नान सुबह 10.15 से शुरू होकर शाम 5.30 बजे तक चलेगा. खास बात ये रहेगी कि इस स्नान के लिए साधु संत मेला प्रशासन ने 20 बिंदुओं की गाइडलाइंस जारी की हैं और उसकी पालना करना अनिवार्य होगा.

मुख्य शाही स्नान की तैयारियां पूरी

कुंभ का तीसरा और मुख्य शाही स्नान को लेकर तैयारियां पूरी कर ली है। इससे पहले महाशिवरात्रि और सोमवती अमावस्या का शाही स्नान सकुशल संपन्न हो चुका है। मंगलवार को कुंभ का 5वां पर्व स्नान चैत्र शुक्ल प्रतिपदा का संपन्न हो गया। शाही स्नान से पहले कोरोना महामारी के कारण भीड़ की संख्या मंगलवार को कम दिखाई दी। आज होने वाले शाही स्नान में अखाड़ा विशेष केंद्र रहेंगे। क्योकि शाही जुलूस के साथ अखाड़े हरकी पैड़ी पर स्नान करते हैं। इसके लिए स्नान क्रम भी तय किया जा चुका है।

ऐसे होगा स्नान

  1. शाही स्ननान में सबसे पहला स्नान निरंजनी अखाड़ा करेगा. इसी अखाड़े के साथ आनंद अखाड़े से जुड़े संत भी स्नान करेंगे. दोनों अखाड़े 30 मिनट कर ब्रह्मकुंड में स्नान करेंगे. सुबह 10:50 से 11:20 बजे तकनिरंजनी अखाड़े के बाद जूना अखाड़ा स्नान करेगा. इसी अखाड़े के साथ अग्नि, आह्वाहन और किन्रर अखाड़े से जुड़े संत भी स्नान करेंगे.
  2. निरंजनी और जूना दो बड़े अखाड़ों के स्नान के बाद बारी होगी महानिर्वाणी अखाड़े की. जिसके संत 11.50 से 12.20 बजे तक स्नान करेंगे.
  3. इसके बाद निर्मोही, दिगंबर और निर्वाणी अणि अखाड़े के संत 50 मिनट तक ब्रह्मकुंड में स्नान करेंगे.
  4. दोपहर 2:50 से शाम 4:55 बजे तक अणि अखाड़ों के स्नान के बाद बारी होगी पंचायती बड़ा उदासीन और पंचायती नया उदासीन अखाड़ा की. दोनों अखाड़े तकरीबन आधे-आधे के गैप में एक घंटे तक ब्रह्मकुंड में आस्था की डुबकी लगाएंगे.
  5. शाम 5 से 5:30 बजे तक ​​महाकुंभ पर पड़ने वाली बैसाखी मेष सक्रांति के मौके पर अंत में शाही स्नान की बारी होगी सिख संतों और गुरुग्रंथ साहिब को मानने वाले श्री निर्मल अखाड़े की है. जो साढ़े पांच बजे ब्रह्मकुंड में स्नान कर अपनी छावनी के लिए प्रस्थान करेगा.

कोविड नियमों का पालन,मुश्किल बढ़ रहा संक्रमण

महाकुंभ में कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बढ़ गई है। सोमवती अमावस्या के शाही स्नान पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने पर मेला पुलिस-प्रशासन ने भी कोविड के दिशा निर्देशों (एसओपी) के पालन कराए जाने से हाथ खींच लिए हैं। स्नान के लिए बाहरी राज्यों से श्रद्धालुओं का रैला उमड़ रहा है।

उच्च न्यायालय ने महाकुंभ में कोविड संक्रमण के फैलाव की आशंका जताते हुए प्रतिदिन पचास हजार जांचें करने के साथ एसओपी का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट के आदेश पर आरटीपीसीआर जांचें बढ़ाई गई हैं। पांच दिनों में आरटीपीसीआर 106719 और एंटीजन 98558 जांचें हुई हैं। इनमें आरटीपीसीआर में 1599 और एंटीजन में 300 पॉजिटिव मिले हैं। दोनों जांचों की पॉजिटिव दर 1.64 फीसदी है।

Next Story
Share it