Top
Pradesh Jagran

अदार पूनावाला ने घटाए कोविशील्ड वैक्सीन दाम,अब राज्यों को मिलेगी इतने में

अदार पूनावाला ने घटाए कोविशील्ड वैक्सीन दाम,अब राज्यों को मिलेगी इतने में
X

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इडिंया ने राज्यों के लिए कोविशील्ड वैक्सीन की कीमत में कटौती का ऐलान किया है. बुधवार (28 अप्रैल, 2021) को कंपनी के सीईओ अदार पूनावाला ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा- सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से राज्यों को दी जाने वाली वैक्सीन की कीमत 400 रुपए से घटाकर 300 रुपए प्रति डोज करता हूं. नई कीमत तत्काल प्रभाव से लागू होगी. इससे राज्यों को हजारों करोड़ रुपए की बचत होगी. इससे और ज्यादा लोगों को टीका लग पाएगा और अनगिनत जिंदगियां बचाई जा सकेंगी.

राज्यों के लिए प्रति डोज 100 रुपये घटे दाम

दरअसल, 1 मई से देश में कोरोना वैक्सीनेशन का अगला चरण शुरू हो रहा है। इसके तहत 18 साल से ऊपर के लोग भी कोरोना से बचाव की वैक्सीन लगवा सकेंगे जिसके लिए आज से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन भी शुरू हो चुका है। इस चरण के लिए केंद्र ने राज्यों और प्राइवेट अस्पतालों को सीधे वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से वैक्सीन खरीदने की छूट दी है। सीरम इंस्टिट्यूट ने ऐलान किया था कि वह राज्यों को 400 रुपये प्रति डोज के हिसाब से कोविशील्ड की सप्लाई करेगी। प्राइवेट अस्पतालों के लिए यह कीमत 600 रुपये प्रति डोज है। अब राज्यों के लिए यह कीमत 400 रुपये से घटकर 300 रुपये प्रति डोज हो गई है।

दायर हुई याचिका

वकील फैजान खान और कानून के तीन छात्रों द्वारा 24 अप्रैल को दायर जनहित याचिका में कहा गया है कि टीके को एक आवश्यक वस्तु माना गया है और इसलिए इसका प्रबंधन तथा वितरण निजी कंपनियों के हाथों में नहीं छोड़ा जा सकता.

इसमें कहा गया है कि ये दिग्गज दवा कंपनियां कोविड-19 के कारण बढ़ी मृत्यु दर के डर को भुना रही हैं. जनहित याचिका में केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों को टीकों के लिए खुले बाजार में प्रतिस्पर्धा करने के लिए कहने के औचित्य पर भी सवाल उठाया गया है. इसमें कहा गया है, 'केंद्र सरकार के साथ ही राज्य सरकार का किसी भी नागरिक के स्वास्थ्य की रक्षा करने का संवैधानिक दायित्व है और इसमें कोई भेदभाव नहीं किया जा सकता. राज्य सरकारों को केंद्र और निजी अस्पतालों से टीका खरीदने के लिए खुले बाजार में प्रतिस्पर्धा के लिए कहना सही नहीं है.

याचिका में हाईकोर्ट से कोविशील्ड के लिए एसआईआई और कोवैक्सीन के लिए भारत बायोटेक द्वारा घोषित कीमतों को रद्द करने का अनुरोध किया गया है. साथ ही इसमें सभी नागरिकों के लिए टीके की कीमत 150 रुपये तय करने का निर्देश देने का आग्रह भी किया गया है. यह याचिका तत्काल सुनवाई के लिए मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति जी एस कुलकर्णी की खंडपीठ के समक्ष पेश हो सकती है.

अदार पूनावाला को मिली Y श्रेणी सुरक्षा

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अडार पूनावाला को केंद्र सरकार ने वाई कैटिगरी की सुरक्षा देने का फैसला लिया है। उन्हें पूरे देश में यह सुरक्षा कवर प्रदान किया जाएगा। बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया गया। इस सुरक्षा कवर के तहत सिक्योरिटी फोर्सेज के 11 जवान उनकी सुरभा में तैनात रहेंगे। इनमें से एक या दो कमांडो भी शामिल रहेंगे। बता दें कि देश में कोरोना वैक्सीनेशन में शामिल वैक्सीन कोविशील्ड का उत्पादन सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की ओर से ही किया जा रहा है।

अधिकारियों के मुताबिक, पूनावाला को 'संभावित खतरे' को देखते हुए उन्हें सुरक्षा दी गई है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के सशस्त्र कमांडो हर वक्त पूनावाला के साथ रहेंगे और वे कारोबारी के साथ तब भी रहेंगे जब वह देश के किसी भी हिस्से की यात्रा कर रहे होंगे। अधिकारियों ने बताया कि वाय श्रेणी की सुरक्षा के तहत पूनावाला के साथ करीब 4-5 सशस्त्र कमांडो रहेंगे।

Next Story
Share it