Top
Pradesh Jagran

कोरोना वायरस:भारत में कोरोना के मामलों ने तोडा रिकॉर्ड,ये वायरस वैरिएंट मचा रहा तबाही

कोरोना वायरस:भारत में कोरोना के मामलों ने तोडा रिकॉर्ड,ये वायरस वैरिएंट मचा रहा तबाही
X

कोरोना कोरोना रोज अपने पाँव पसर रहा है और देश में ये बहुत तेज़ी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है.जिस रफ़्तार से कोरोना अपने गिरफ्त में सभी को ले रहा है वो स्थितियां बेहद गंभीर हैं.वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, देश में शनिवार रात 12 बजे तक 24 घंटों में कोरोना के रिकॉर्ड 2,60,553 नए मामले सामने आए, जिससे देश में कोरोना से कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,47,82,461 हो गई। महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक एक दिन में नए संक्रमितों की यह सर्वाधिक संख्या है। यह पहली बार है जब नए मामले ढाई लाख से अधिक दर्ज किए गए।

अब संक्रमितों की संख्या हुयी1.50 करोड़

इसके साथ ही दिल्ली सहित 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ऑक्सीजन सिलेंडर, टीके की खुराक और रेमडेसिविर की मांग भी बढ़ गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कोविड-19 महामारी की स्थिति को 'चिंतित करने वाला' करार दिया।

भारत में कोविड-19 रोगियों की संख्या 1.50 करोड़ और मृतकों की संख्या 1.75 लाख के करीब पहुंचने के नजदीक है। वहीं, राज्यों द्वारा हाल में बढ़े मामलों के रोकथाम और प्रबंधन के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बैठक की।

शनिवार को इस अवधि में 1493 मरीजों की मौत हो गई। लगातार दूसरे दिन मौतों के रिकॉर्ड मामले दर्ज किए गए। अब तक देश में महामारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 1,77,168 हो गई है। इसी के साथ कोरोना के इलाजरत मरीजों की संख्या करीब 18 लाख हो गई है। उपचाराधीन मरीजों की संख्या 17,95,278 दर्ज की गई जो संक्रमण के कुल मामलों का करीब 12.14 प्रतिशत है। साथ ही ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में कमी हो रही है.कोरोना से स्वस्थ होने वाले लोगों की दर घट कर 86.6 प्रतिशत हो गई है। कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,28,03,791 हो गई है और मृत्यु दर गिरकर 1.22 प्रतिशत हो गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस के 79.32 फीसद नए मामले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दिल्ली समेत 10 प्रदेशों और केंद्रशासित प्रदेशों से आए।

पीएम ने बुलाई बैठक

कोविड-19 की स्थिति से निपटने के लिए जन स्वास्थ्य तैयारियों की समीक्षा करने के लिए बुलाई गई बैठक में मोदी ने महामारी को हराने के लिए राज्यों में सहयोग का आह्वान किया और साथ ही कहा कि दवा निर्माण की पूर्ण राष्ट्रीय क्षमता का इस्तेमाल किया जाए। बैठक में प्रधानमंत्री ने जांच, संपर्क का पता लगाने और फिर उपचार की दिशा में आगे बढ़ने पर जोर दिया और कहा कि इनका कोई विकल्प नहीं है। बिस्तर की उपलब्धता को बढ़ाने के लिए हरसंभव कदम उठाने का निर्देश दिया।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर दवाइयों की बढ़ती मांग के मद्देनजर देश के दवा निर्माता उद्योग की पूरी क्षमता का उपयोग करने की आवश्यकता जताई तथा साथ ही रेमडेसिविर और अन्य दवाइयों की आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा की। इससे पहले मोदी ने कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के मद्देनजर शनिवार को संत समाज से उत्तराखंड के हरिद्वार में चल रहे कुंभ को ''प्रतीकात्मक'' रखने की अपील की ताकि इस महामारी के खिलाफ मजबूती से लड़ाई लड़ी जा सके।

ब्रिटेन का वायरस तेज़ी से फ़ैल रहा

इस बीच केंद्र सरकार ने ये जानने की कोशिश की है कि ये इतनी तेज़ी से क्यों बढ़ रहा है.सरकार ने कोरोना के नमूनों की सीक्वेंसिंग कराई है.जिसमे ये पता चला है कि भारत में कुल तीन स्वरुप कहर बरपा रहे हैं जिसमे ब्रिटेन वाला वायरस वेरिएंट तेज़ी से फ़ैल रहा है.

जनसत्ता में छपी खबर के अनुसार: रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्र ने 13 हजार 164 नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग कराई है। इनमें 8.77 फीसदी यानी करीब 1189 मामलों में दूसरे देशों के कोरोना वैरिएंट- मसलन दक्षिण अफ्रीकी, ब्रिटिश और ब्राजील में मिले वायरस के बेहद घातक स्वरूप संक्रमण के लिए जिम्मेदार पाए गए हैं। इसके अलावा डबल म्यूटेशन वाले वायरस को भी संक्रामक पाया गया है। रिसर्च में देश में इसकी 10 फीसदी संक्रमित आबादी में मौजूदगी का अनुमान लगाया गया है।

Next Story
Share it