Top
Pradesh Jagran

स्टाफ के संक्रमित होने के बाद सीएम योगी हुए आइसोलेट,यूपी के हालात पर हाईकोर्ट ने जताई चिंता

स्टाफ के संक्रमित होने के बाद सीएम योगी हुए आइसोलेट,यूपी के हालात पर हाईकोर्ट ने जताई चिंता
X

देश में कोरोना की रफ़्तार काफी तेज़ी से बढ़ रही है. उत्तर प्रदेश इन दिनों कोरोना का हॉटस्पॉट राज्य बनता जा रहा है कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.प्रतिदिन रिकॉर्ड मरीजों के बाद मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी के कार्यालय में भी कोरोना ने हमला कर दिया है। जानकारी के मुताबिक अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, मुख्यमंत्री के ओएसडी अभिषेक कौशिक, निजी सचिव जय शंकर, निजी सहायक प्रताप और विशेष सचिव अमित कुमार सिंह कोरोना संक्रमित हो गए हैं।

इस सम्बन्ध में सीएम ऑफिस ने ट्वीट कर जानकारी दी.ट्वीट में लिखा

मेरे कार्यालय के कुछ अधिकारी कोरोना से संक्रमित हुए हैं। यह अधिकारी मेरे संपर्क में रहे हैं, अतः मैंने एहतियातन अपने को आइसोलेट कर लिया है एवं सभी कार्य वर्चुअली प्रारम्भ कर रहा हूं

उत्तर प्रदेश में अब तक इतने मामले

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 18,021 नए मामले सामने आए हैं जो कि अब तक का एक रिकॉर्ड है. सोमवार को 13685 संक्रमित मिले थे. कोरोना के नए मामलों में अकेले 5382 तो लखनऊ के ही हैं. इसके अलावा, प्रयागराज में 1856, वाराणसी में 1404 व कानपुर में 1271 नए मामले सामने आए हैं. अब तक यूपी के 20 से ज्यादा जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है, इसके बाद भी कोरोना के बढ़ते मामले डरा रहे हैं.

कोरोना के चलते बंद रहेगा सर्राफा बाज़ार

राजधानी में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए रात का कर्फ्यू तो पहले ही लगा दिया गया था लेकिन, अब बाजार भी बंद होने लगे हैं. इसी क्रम में शहर के चौक इलाके की सर्राफा की दुकानें हफ्ते में तीन दिन बंद रहेंगी. चौक के सर्राफा व्यापारियों ने तय किया है कि हफ्ते में तीन दिन बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को ज्वैलरी की दुकानें बंद रखी जायेंगी. बता दें कि ये फैसला जिला प्रशासन ने नहीं बल्कि खुद सर्राफा व्यापारियों ने लिया है.

हाईकोर्ट ने बढ़ते मामले देख जताई चिंता

ढ़ते कोरोना संक्रमण पर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को लॉकडाउन के आदेश पर विचार करने को कहा है. हाई कोर्ट ने कहा है, अधिक संक्रमित जनपदों में दो से तीन सप्ताह का लॉकडाउन लगाने पर विचार किया जाए. कोर्ट ने मास्क पहनने का सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिया है. सड़कों पर बगैर मास्क के लोगों के टहलने पर पुलिस के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई हो सकती है.

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार से कहा है कि शहरों में खुले मैदान में अस्थायी अस्पताल बनाकर लोगों का इलाज किया जाए. जरूरी समझने पर संविदा पर स्टाफ की तैनाती की जाए. कोरोना को लेकर दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने ये आदेश दिया है. जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा और जस्टिस अजीत कुमार की खंडपीठ ने आदेश जारी किया है.

Next Story
Share it