Top
Pradesh Jagran

कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए क्रय केन्द्रों पर पर्याप्त साबुन, पानी, सेनेटाइजर, थर्मामीटर व ऑक्सीमीटर की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी

कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए क्रय केन्द्रों पर पर्याप्त साबुन, पानी, सेनेटाइजर, थर्मामीटर व ऑक्सीमीटर की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी
X

रबी विपणन वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत प्रदेश में खाद्य एवं रसद विभाग एवं पी0सी0एफ0, यू0पी0एस0एस0, पी0सी0यू0, एस0एफ0सी0, मण्डी परिषद व भा0खा0नि0 के 6000 केन्द्र स्थापित कर गेहूॅ की खरीद की जा रही है। इस वर्ष सरकार द्वारा गेहॅू का न्यूनतम समर्थन मूल्य रू0 1975 प्रति कु0 निर्धारित किया गया है।

यह जानकारी प्रदेश के खाद्य आयुक्त मनीष चैहान ने देते हुए बताया कि 01 अप्रैल, 2021 से प्रदेश के सभी जनपदों में खरीद प्रारम्भ है, अब-तक कुल 2.98 लाख मी0टन की खरीद की गयी है तथा 55718 किसानों को लाभान्वित किया गया है। उन्होंने बताया कि गतवर्ष इसी तिथि को 18680.50 मी0टन खरीद हुयी थी। वर्तमान समय में भी क्रय केन्द्र संचालित हैं तथा किसानों से सुचारू रूप से गेहूॅ की खरीद जारी है। खाद्य विभाग 85235.19 मी0टन, पी0सी0एफ0 120125.33 मी0टन, यू0पी0एस0एस0 27092.85 मी0टन, पी0सी0यू0 36157.85 मी0टन, एस0एफ0सी0 8768.05 मी0टन, मण्डी परिषद 8437.20 मी0टन एवं भा0खा0नि0 के द्वारा 12234.30 मी0टन खरीद की गयी है। प्रदेश में प्रमुख 6 जनपद शाहजहॉपुर 40842.518 मी0टन, पीलीभीत 34241.525 मी0टन, अलीगढ़ 17623.377 मी0टन, सीतापुर 12169.37 मी0टन, बुलंदशहर 13596.20 मी0टन व लखीमपुर-खीरी में 9830.108 मीटन की खरीद की गयी है।

चैहान ने बताया कि प्रत्येक क्रय केन्द्र पर जिलाधिकारी द्वारा नोडल अधिकारी की तैनाती कर खरीद की निगरानी की जा रही है। पंजीकरण व सत्यापन सम्बन्धी कठिनाईयो को दूर करने हेतु जनपदों के तहसील मुख्यालय व मण्डी यार्ड में (किसान हेल्प डेस्क) की व्यवस्था करने के निर्देश दिये गये हैं।

खाद्य आयुक्त ने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु किसानों की सुविधा के लिए ऑनलाइन टोकन की व्यवस्था की गयी है। किसान पंजीकरण के समय या बाद में भी अपने गॉव के नजदीक सम्बद्ध क्रय केन्द्र हेतु टोकन प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि अब-तक कुल 103420 किसानों द्वारा ऑनलाइन टोकन प्राप्त किये गये हैं। यदि कोई किसान क्रय केन्द्र पर बिना टोकन के गेहूॅ लाता है तो उसकी भी खरीद की जा रही है।

खाद्य आयुक्त ने बताया कि कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए क्रय केन्द्रों पर पर्याप्त सुविधाए-साबुन, पानी, सेनेटाइजर, थर्मामीटर व ऑक्सीमीटर की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है तथा कोविड प्रोटोकाल के अन्तर्गत सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन कराया जा रहा है। इसके अतिरिक्त क्रय केन्द्रों पर किसानों के बैठने हेतु छाया और पीने के पानी की भी समुचित व्यवस्था की गयी है।

Next Story
Share it