Breaking News

मुख्तार अंसारी  के काफिले पर हमले के मामले में 13 साल जेल में बंद रहे माफिया बृजेश सिंह अब बाहर आ चुके है

मुख्तार अंसारी  के काफिले पर हमले के मामले में 13 साल जेल में बंद रहे माफिया बृजेश सिंह अब बाहर आ चुके हैं। उन्हें इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिली है। उनके बाहर आने के बाद अब इस पर यूपी में राजनीतिक बयानबाजी भी शुरू हो गई है। पहले ओम प्रकाश राजभर का इसपर बयान आया, अब समाजवादी पार्टी  प्रमुख अखिलेश यादव  की भी प्रतिक्रिया आ गई है।बृजेश सिंह के बाहर आने पर अखिलेश यादव ने कहा, “मुझे याद आ रहा है कि वाराणसी के लोग बताते थे, सरकार के लोग उनके साथ वाराणसी जेल में तीन-तीन घंटे बैठते थे। उनका बाहर आना तो स्वाभाविक है। ये कोर्ट का फैसला है और कोर्ट का फैसला तो सबको मानना ही पड़ेगा।

इससे पहले सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर के बेटे ने कहा, “बृजेश सिंह से भी हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष के अच्छे रिश्ते हैं। मुझे याद है कि उनके पिता चुलबुल सिंह जब चुनाव लड़ रहे थे तो वे मेरी माता के वोट से ही जिला पंचायत अध्यक्ष भी बने थे। हमारा उनके ऊपर बहुत ज्यादा कर्ज है। राजनीति में सब कोई दोस्त हैं, कोई किसी का दुश्मन नहीं है। यहां सबकुछ जायज है। उन्होंने मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी पर कहा, अपराधियों की कोई जाति नहीं होती है। हालांकि वो मेरे विधायक हैं। हमारा नैतिक कर्तव्य है अपने विधायक की सुरक्षा और रक्षा करना। हम सरकार से निवेदन करेंगे कि हमारे विधायक को ज्यादा प्रताड़ित नहीं किया जाए। न्याय किसी व्यक्ति विशेष के साथ हुआ है तो हमारे साथ भी होना चाहिए।