Breaking News
Donate Now

कोरोना संकट के बीच गरीबों के लिए लखनऊ विश्वविद्यालय ने उठाया ये बड़ा कदम

कोरोना संकट को देखते हुए लखनऊ विश्वविद्यालय ने गरीबों की मदद के लिए एक पहल करते हुए मास्क बैंक की स्थापना की है। बैंक के माध्यम से जरूरतमंदों, मलिन बस्ती और ग्रामीणों को मास्क का नि:शुल्क वितरण किया जाएगा।

एनएसएस लखनऊ विवि के कार्यक्रम समन्वयक डॉ़ राकेश द्विवेदी ने आईएएनएस को विशेष बातचीत में बताया कि लखनऊ विश्वविद्यालय में मास्क बैंक बनाया गया है। इसका उद्देश्य है कि जरूरतमंदों को मास्क मिले। इस बैंक का उद्घाटन एक सप्ताह के अंदर किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि राजधानी के आस-पास के इलाके मलिन बस्तियों और ग्रामीणों के बीच नि:शुल्क मास्क बांटे जाएंगे। इसके लिए सोशल वर्क विभाग में दो लोगों की तैनाती की गई है जो मास्क एकत्रित कर रहे हैं। जिन लोगों को इसकी जानकारी मिल रही है, वह सहयोग के लिए आगे आ रहे हैं।

डॉ. द्विवेदी ने बताया कि इस बैंक की अन्य शाखाओं को संबद्ध कॉलेजों, जहां पर एनएसएस की इकाई संचालित हो रही है, वहां यह स्थापित की जाएंगी। उन्होंने कहा, “यहां व्यक्तिगत स्तर पर मास्क तैयार कर रहे लोगों और युवाओं से संपर्क करके मास्क एकत्रित किए जा रहे हैं। अभी हमारे बैंक में करीब 5,000 मास्क एकत्रित हो गए हैं, अब इन्हें बांटने का काम शुरू करना है।”

डॉ. द्विवेदी ने कहा “बैंक ने शहर के कुछ इलाके तय किए हैं, जहां ये मास्क बांटे जाएंगे। अभी हाथ से बने और एक बार प्रयोग किए जा सकने वाले मास्क एकत्रित किए गए हैं। वितरण का काम हमारे स्वयंसेवक करेंगे। करीब 56 कॉलेजों में एनएसएस में लगभग 14,000 स्वयंसेवक हैं।” कोरोना संकट के दौरान एनएसएस पहले भी मास्क वितरण कर चुका है।

error: Content is protected !!