Breaking News
Donate Now

बाबा रामदेव की कोरोनिल दवा को लेकर हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को जारी किया नोटिस

कोरोना वायरस की दवा बनाने को लेकर भले ही बाबा रामदेव और उनके सहयोगी आचार्य बालकृष्ण ने भले ही पाला बदल लिया हो लेकिन इस मामले में उनकी मुश्किलें खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। दरअसल अब यह मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है। जिसमें कोरोनिल दवा लॉन्च करने के खिलाफ एक याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है।

इस मामले को लेकर हाईकोर्ट के वकील मणि कुमार की ओर से याचिका दाखिल की गई थी, जिस पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से जवाब तलब किया है। हाईकोर्ट 1 जुलाई को भी इस मामले की सुनवाई करेगा। गौरतलब हो कि बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने बीते 23 जून को कोरोना का सफल इलाज का दावा करते हुए कोरोनिल टैबलेट के साथ एक कोरोना किट लॉन्च की थी।

हालांकि इसके लॉन्च होने के बाद से ही बाबा रामदेव और उनके सहयोगी आचार्य बालकृष्ण सवालों के घेरे में आ गए। जिसके बाद केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय ने दिव्य योग फार्मेसी और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा था। वहीं बाद में उत्तराखंड के भी आयुष मंत्रालय ने दिव्य योग फार्मेसी को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा था।

जिस पर दिव्य योग फार्मेसी ने बीते शुक्रवार को इसका जवाब देते हुए कहा था कि उनकी ओर से कोरोना की दवा बनाने का कोई दावा नहीं किया गया था। जिसके बाद आयुष मंत्रालय की ओर से दिव्य योग फार्मेसी को क्लीन चिट दे दी गई है। साथ ही केंद्र सरकार ने कहा है कि दिव्य योग फार्मेसी इस दवा को इम्यूनिटी बूस्टर के रूप में लोगों के बीच इसका प्रचार कर सकती है और साथ ही आयुष मंत्रालय ने भी इस पर क्लीनिकल ट्रायल जारी रखने की अनुमति दे दी है। वहीं अब वकील मणि कुमार ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर इस दवा को बाजार में बैन कराने की मांग की है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com