Breaking News

सीएम योगी और उपमुख्यमंत्रियों के बीच पहली बार हुआ मंडलों और जिलों का बंटवारा

सीएम योगी और उपमुख्यमंत्रियों के बीच पहली बार हुआ मंडलों और जिलों का बंटवारा, जानें इसके मायने
सीएम योगी संभालेंगे वाराणसी, मेरठ, मुरादाबाद, अलीगढ, वाराणसी और आजमगढ़ मंडल उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को कानपुर, झांसी, चित्रकूट, प्रयागराज, मिर्जापुर और अयोध्या मंडल उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक को लखनऊ, गोरखपुर, बस्ती, देवीपाटन, आगरा, बरेली मंडल की कमान प्रदेश में केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन, सुदृढ़ कानून व्यवस्था और सरकार व संगठन के बीच समन्वय के लिए पहली बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक के बीच छह-छह मंडलों (25-25 जिलों) का बंटवारा हुआ है। एक ओर जहां प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री और राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के नेतृत्व में गठित 18 मंत्री समूह मंडलों का दौरा करेंगे। वहीं मुख्यमंत्री और दोनों उपमुख्यमंत्री भी मंडलों और जिलों का दौरा कर योजनाओं को धरातल पर उतारने के साथ जमीनी हकीकत का पता लगाएंगे।

मुख्यमंत्री योगी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी मंडल के साथ पश्चिमी यूपी की राजनीति को प्रभावित करने वाले सहारनपुर, मेरठ, मुरादाबाद, अलीगढ़ के साथ पूर्वांचल के आजमगढ़ मंडल की कमान खुद के पास रखी है। वहीं उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को कानपुर, झांसी, चित्रकूट, प्रयागराज, मिर्जापुर और अयोध्या मंडल की जिम्मेदारी सौंपी है। उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक को लखनऊ, गोरखपुर, बस्ती, देवीपाटन, आगरा और बरेली मंडल का प्रभार दिया गया है। सरकार का मानना है कि मंडलों और जिलों में दौरे, समीक्षा, निगरानी और समन्वय की दोहरी व्यवस्था लागू होने से जनता की समस्याओं का समाधान जल्द होगा। वहीं सरकार की योजनाओं का लाभ पात्र लोगों को मिलेगा। सरकार और संगठन के बीच नीचे तक समन्वय भी बनेगा।