Top
Pradesh Jagran

योगी सरकार ने तय किया जून में 1 करोड़ वैक्‍सीनेशन का लक्ष्‍य, जानें क्या है प्लान

योगी सरकार ने तय किया जून में 1 करोड़ वैक्‍सीनेशन का लक्ष्‍य, जानें क्या है प्लान
X

लखनऊ। योगी सरकार प्रदेशवासियों को वैक्‍सीन कवर देने के लिए बड़ा अभियान चलाएगी। अकेले जून के महीने में योगी सरकार कोविड वैक्‍सीन की एक करोड़ डोज लगाने की तैयारी में है। 1 जून से शुरू होने वाले इस महा अभियान के लिए सरकार ने चाक चौबंद तैयारी की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज एक उच्च स्तरीय वर्चुअल बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा में कहा कि राज्य सरकार की 'ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट' की नीति कोविड नियंत्रण में उपयोगी सिद्ध हो रही है। 01 जून से प्रदेश के सभी जनपदों में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग का कोरोना वैक्सीनेशन कार्य प्रारंभ हो रहा है। जून में कोविड वैक्सीनेशन का व्यापक अभियान कोरोना वैक्सीन की 01 करोड़ डोज से प्रदेशवासियों के वैक्सीनेशन के लक्ष्य के साथ प्रारंभ किया जाए।

यूपी में 24 घण्टों में कोरोना संक्रमण के 2,402 आए मामले

विगत 24 घण्टों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 2,402 मामले आए हैं। इसी अवधि में 8,145 संक्रमित व्यक्तियों का सफल उपचार करके डिस्चार्ज किया गया है। प्रदेश में 30 अप्रैल, 2021 को संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक एक्टिव मामले 3,10,783 थे। वर्तमान में एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 52,244 हो गयी है। इस प्रकार विगत 30 अप्रैल के सापेक्ष एक्टिव मामलों की संख्या में 2,58,539 की कमी आयी है।

राज्य में रिकवरी दर बढ़कर 95.7 प्रतिशत

राज्य में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर लगातार बढ़ रही है। वर्तमान में यह दर बढ़कर 95.7 प्रतिशत हो गयी है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर में भी कमी देखी जा रही है। राज्य में पिछले 24 घण्टों में 3,58,407 कोविड टेस्ट किये गये। विगत 24 घण्टों में टेस्ट पॉजिटिविटी दर 0.7 प्रतिशत रही है। प्रदेश में अब तक 4 करोड़, 84 लाख, 26 हजार 572 कोविड टेस्ट किए जा चुके हैं।


ग्रामीण इलाकों को जांच अभियान जारी रखा जाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण इलाकों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए चलाये जा रहे वृहद जांच अभियान को प्रभावी ढंग से जारी रखा जाए। किसी भी लक्षण युक्त तथा संदिग्ध संक्रमित व्यक्ति तक निगरानी समितियां सबसे पहले पहुंचती है। इसलिए निगरानी समितियों को पर्याप्त संख्या में मेडिकल किट उपलब्ध कराये जाने के साथ ही, यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रत्येक जरूरतमंद को मेडिकल किट उपलब्ध हो जाए। यह सुनिश्चित करने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा सेक्टर के प्रभारी अधिकारी को जवाबदेह बनाया जाए।

Next Story
Share it