Top
Pradesh Jagran

वोटर पॉलिटिकल पार्टनर बनेगा तभी देश की गरीबी खत्म होगी : संजय निषाद

वोटर पॉलिटिकल पार्टनर बनेगा तभी देश की गरीबी खत्म होगी  : संजय निषाद
X

गोरखपुर। एनडीए की सहयोगी निर्बल इण्डियन शोषित हमारा आम दल (निषाद पार्टी) ने बुधवार को गोरखपुर में सजातीय आरक्षण रैली निकालकर अपनी ताकत का एहसास कराया। पार्टी ने संकल्प दिवस मनाने के साथ कांग्रेस, सपा-बसपा और बिना नाम लिए केन्द्र की भाजपा सरकार पर भी निशाना साधा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर सांसद रवि किशन और प्रवीण कुमार निषाद मौजूद रहे।

इस दौरान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय कुमार निषाद ने कहा कि आने वाली पीढ़ी के बेहतर भविष्य के लिए निषाद पार्टी का जन्म हुआ है। सरकार से जारी 100 रुपये में 99 रु. जनता तक पहुंचते ही नहीं। 99 प्रतिशत तो राजनितिक हिस्सेदार खा जाते हैं। 70 सालों में जो भी सरकार आई वोट लेकर अपना नोट बनाने का काम किया। इनसे पहले अंग्रेजों ने लूट, कांग्रेस ने सिर्फ जय जवान जय किसान का नारा दिया। देश में गरीबी तब तक नहीं खत्म होगी जब तक वोटर पॉलिटिकल पार्टनर बनकर बजट का हिस्सेदार नहीं होता। निषाद पार्टी भी यही चाहती है कि वोटर पॉलिटिकल पार्टनर बन बजट का हिस्सेदार बनें।




उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार को चलाने के लिए पॉलिटिकल पार्टनरशिप की जरुरत होती है। देश के वोटर राजनीति एवं बजट का शिकार हो रहे हैं। इसलिए निर्बल हो रहे है। देश का असली भगवान वोटर है। वोटर पॉलिटिकल पार्टनर बनेगा तभी देश की गरीबी खत्म होगी। निषाद पार्टी ने वोटर के पास जाना होगा, वोटर को राजनीति पढ़ाना ही होगा, वोटर को गलत जगह वोट पड़ने से हो रहे सत्यानाश को बताना ही होग की मुहिम चलाई है।

डॉ. निषाद ने कहा कि गोरखपुर गुरु मत्स्येन्द्रनाथ, गुरु गोरक्षनाथ की तपोभूमि है। वो हमारी जन्मभूमि के साथ कर्मभूमि भी है। निषाद पार्टी ने योगी जी के क्षेत्र में 2018, 2019 का चुनाव भी वहां से लड़ा और जीता भी। इसलिए गोरखपुर संकल्प दिवस के लिए निषाद पार्टी लिए मह्तवपूर्ण है। भाजपा हमारी सहयोगी पार्टी है और 2019 में दोनों पार्टियों के शीर्ष नेताओं ने आपस में विचार विमर्ष कर एक साथ आने का फैसला लिया था। लोग पूछते हैं कि लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा ने आपसे कई वायदे किए थे अब आप उनके सहयोगी भी है तो ऐसे में कोई वायदा पूरा हुआ या नहीं? हमें कहना पड़ता है कि वायदे उन्होने किए है तो अभी तक पूरे क्यों नहीं किए ये भाजपा जानें। हमने मछुआ समाज के आरक्षण और विकास के लिए गठबंधन किया है। मछुआ समाज के साथ सबने अन्याय किया, चाहे बसपा हो, सपा हो सबने वोट लेकर छलने का काम किया। सपा कभी एससी से बाहर कर पिछड़ी सूची में डाल देती है तो बसपा स्टे लगा देती है।


जिस प्रकार उत्तराखंड सरकार ने शिल्पकार को जातियों का समूह मानकर सभी पर्यायवाची एवं उपजातियों को अनुसूचित जातियों का आरक्षण दिया गया। इसी आधार पर हमें भी मंझवार, गोडम, तुरैहा आदि को जातियों का समूह मानकर उत्तराखंड सरकार के शासनादेश के आधार पर केवट, मल्लाह, कश्यप कंहार आदि को अनुसूचित जाति के आरक्षण का प्रमाण पत्र दिया जाय। हम भाजपा को आगाह करेंगे कि वो हमारा वादा पूरा करें।



निषाद पार्टी की प्रदेश महासचिव और अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की राष्ट्रीय महासचिव ऋतु खरे ने कहा कि कायस्थ ने आज़ादी की लड़ाई से लेकर आधुनिक भारत के निर्माण में बहुत सार्थक भूमिका निभाई है। दुर्भाग्यवश्य किसी भी राजनीतिक पार्टी ने कायस्थ को उचित स्थान नहीं दिया जिसके वो योग्य हैं। सुभाष चंद्र बोस, डॉक्टर राजेंद्र ,लाल बहादुर शास्त्री, जय प्रकाश नारायण जोकि आज की राजनीति के के आदर्श है और भारत को नवयुग तक लाने में अहम किरदार निभाया। आख़िर कायस्थ समाज की सभी पार्टियों ने क्यों उपेक्षा की है। अब हम कायस्थ जागरुक हो गए हैं और सभी राजनीति पार्टी ये जान ले की हमें अपना अधिकार माँगना भी आता है और छीनना भी।अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने ये ठान लिया है की हम कायस्थ को उचित और सर्वोच्च स्थान दिलवा कर रहेंगे।

Next Story
Share it