Top
Pradesh Jagran

रालोद के इशारे पर बिगाड़ा जा रहा माहौल : संजीव बालियान

रालोद के इशारे पर बिगाड़ा जा रहा माहौल : संजीव बालियान
X

मुजफ्फरनगर। केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव बालियान ने कहा कि राष्ट्रीय लोकदल की मानसिकता सही नहीं है। रालोद के इशारे पर ही माहौल बिगाड़ा जा रहा है। मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं। मैं समाज को बंटता हुआ नहीं देख सकता। 2022 के चुनावों में भी रालोद को हराएंगे।

केंद्रीय मंत्री डाॅ. संजीव बालियान ने मंगलवार को मुजफ्फरनगर में महावीर चैक के निकट सिंचाई विभाग के डाक बंगले पर आयोजित प्रेस वार्ता में अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि वह बीते दिन हुई सोरम की घटना से दुखी है। वह समाज को बंटता नहीं देख सकते। रालोद नेताओं की काॅल डिटेल निकलवाई जाए। मेरी गलती निकलेगी तो मैं दिल्ली चला जाऊंगा। मैं जिले के लोगों के सुख-दुख में हर वक्ता खड़ा हूं। ये लोग नहीं चाहते कि मैं लोगों के बीच रहूं।

संजीव बालियान ने कहा कि तेरहवीं जैसे कार्यक्रम में जिंदाबाद-मुर्दाबाद नहीं होनी चाहिए। दिल्ली हिंसा में लाल किले पर मौजूद नेता ही सोरम में मौजूद थे। जिससे साबित होता है कि रालोद ने ही यह षड्यंत्र रचा है। मस्जिदों से ऐलान करके भीड़ इकट्ठा की गई। मुजफ्फरनगर की जनता को तय करना है विकास चाहिए कि कुछ और। मैं हमेशा मुजफ्फरनगर की जनता के बीच में रहता आया हूँ और आगे भी रहूंगा।

रालोद के मंच पर बैठते हैं दंगा करने वाले

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2013 में दंगा कराने वाले लोग ही रालोद के मंच पर बैठते हैं। भैंसवाल और सोरम में सब कुछ सुनियोजित तरीके से हुआ। सब कुछ रालोद नेताओं के इशारे पर सोरम में हुआ। उन्होंने कहा कि मुझे अपनी जान की परवाह नहीं है और मुझे किसी सुरक्षा की जरूरत नहीं। सांसद बनने से अब तक खाप चैधरियों के बीच 50 बार जा चुका हूं। जब भी कोई सलाह या आशीर्वाद लेना होता है तो मैं अपने सभी खाप चौधरियों के पास जाता हूं। सोरम में केवल छह लोग विरोध में नारेबाजी कर रहे हैं। वे सभी रालोद के कार्यकर्ता है। 2013 में यह लोग कहां चले गए थे, जब सोरम के लोगों पर हमला हुआ था। रालोद को चेतावनी देते हुए संजीव बालियान ने कहा कि ओछी हरकतों को छोड़कर 2022 के चुनाव में आए जाए। उन्हें अपनी ताकत का पता चल जाएगा। 2022 में भी उन्हें हराएंगे।

Next Story
Share it