Top
Pradesh Jagran

केन्द्र सरकार सीएम योगी आदित्यनाथ के कामकाज से खुश नहीं!, बढ़ सकती है मुश्किल

केन्द्र सरकार सीएम योगी आदित्यनाथ के कामकाज से खुश नहीं!, बढ़ सकती है मुश्किल
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले क्या भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व और खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह नाराज है? यह ऐसा सवाल है जो आज हर उस व्यक्ति के मन मे उठ रहा है जो राजनीति को थोड़ा बहुत भी समझता है। क्योंकि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज आनन-फानन गृह मंत्री अमित शाह से मिलने दिल्ली पहुंचे।

दोनों नेताओं के बीच करीब 2 घंटे तक बैठक चली। इसी बीच अपना दल की अनुप्रिया पटेल भी बैठक में मौजूद रहीं। वहीं कल सीएम योगी बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मुलाकात करेंगे। इसके बाद सीएम योगी कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिल सकते हैं। सीएम योगी के दिल्ली दौरे को लेकर अब कई कयास लगाए जा रहे हैं। पिछले करीब 15 दिनों से यूपी मंत्रिमंडल में बदलाव को लेकर चर्चाएं चल रही हैं।

विधानसभा चुनाव से पहले सियासी उठापटक शुरु

उप्र में फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में चुनावी सरगर्मियां तेजी से बढ़ रही हैं। राज्य की सियासत भी चुनावी मोड में नजर आने लगी है। यही कारण है कि चुनाव से ठीक पहले होने वाले सियासी उठापटक और दलबदल भी अक्सर देखे जाने लगे हैं।

इस बीच एक ऐसी खबर आई है जिसे सुनकर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व की छटपटाहट साफ़ दिखाई देने लगी है। खबर है कि 2017 के चुनाव में गृह मंत्री अमित शाह ने भले ही योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का ताज पहना दिया था लेकिन अब वही शाह योगी को पसंद नहीं करते हैं इसकी वजह उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही हत्याएं घपले घोटाले के साथ-साथ योगी का कमजोर प्रशासन भी माना जा रहा है। जिसमें कई ऐसे फैसले लिए गए जो बाद में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के लिए किरकिरी का सबब बन गए।

योगी सत्ता और संगठन के बीच आपसी समन्वय बनाने में नाकाम

योगी से अमिता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नाराजगी का एक कारण यह भी है कि वह सत्ता और संगठन के बीच आपसी समन्वय बनाने में नाकाम साबित हुए हैं। ताजा सर्वे की मानें तो यूपी के 7 परसेंट से ज्यादा विधायक योगी आदित्यनाथ को हटाने के पक्ष में हैं। वह नहीं चाहते कि योगी मुख्यमंत्री बने रहें क्योंकि इससे आगामी चुनाव में उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

आरएसएस को योगी सरकार के कामकाज का नेगेटिव फीडबैक मिला

बीते दिनों भाजपा के संगठन प्रभारी और आरएसएस के प्रमुख पदाधिकारियों ने भी योगी सरकार के कामकाज का फीडबैक लिया था जिसमें भी नेगेटिव फीडबैक ही मिला था जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खास ब्यूरोक्रेट रहे एक पूर्व आईएएस को उपमुख्यमंत्री पद पर बिठाकर सत्ता और संगठन के बीच में सामंजस्य बनाने की बात सामने आई थी लेकिन वह बात आई गई हो गई।

Next Story
Share it