Breaking News

मूसेवाला की हत्या पर दिल्ली पुलिस का बड़ा खुलासा, लॉरेंस बिश्नोई ही है मास्टरमाइंड; 5 आरोपियों की पहचान

पुलिस ने कहा कि आरोपियों को, गायक पर गोली चलाने वाले लोगों को रहने की जगह उपलब्ध कराने, टोह लेने (रेकी) और अन्य प्रकार की सुविधा मुहैया कराने के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है। पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या को लेकर दिल्ली पुलिस ने बुधवार को बड़ा खुलासा किया। पुलिस ने बताया कि अब तक इस केस में 5 आरोपियों की पहचान कर ली गई है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी धालीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का मास्टरमाइंड लॉरेंस बिश्नोई है जोकि दिल्ली की जेल में बंद है और पुलिस उससे लगातार पूछताछ कर रही है। उन्होंने यह भी बताया कि भगोड़े सौरभ महाकाल के करीबी शूटर ने मूसेवाला को गोली मारी थी।बता दें कि बुधवार को पुणे की ग्रामीण पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मुख्य शूटर के करीबी महाकाल को गिरफ्तार कर लिया है और उसे 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी एचजीएस धालीवाल ने कहा कि महाराष्ट्र पुलिस को महाकाल की 14 दिन की हिरासत मिली है। पुलिस ने बताया, “हत्या में कम से कम 5 लोग शामिल हैं। एक महाकाल को गिरफ्तार कर लिया गया है, वह पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल शूटरों में से एक का करीबी सहयोगी है, हालांकि वह शूटिंग में शामिल नहीं था। असली शूटरों की जल्द गिरफ्तारी होगी।

इससे पहले पंजाब पुलिस ने भी कहा था कि मूसेवाला की हत्या के पीछे लॉरेंस बिश्नोई गिरोह का हाथ था। गिरोह के सदस्य और कनाडा में रह रहे गोल्डी बराड़ ने इस हत्या की जिम्मेदारी ली है। पंजाब पुलिस ने मंगलवार को कहा कि पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के संबंध में पुलिस ने अब तक आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कहा कि आरोपियों को, गायक पर गोली चलाने वाले लोगों को रहने की जगह उपलब्ध कराने, टोह लेने (रेकी) और अन्य प्रकार की सुविधा मुहैया कराने के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है।पंजाब के मानसा जिले में रविवार को अज्ञात हमलावरों ने मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की गोली मारकर हत्या कर दी। राज्य सरकार द्वारा मूसेवाला की सुरक्षा में कटौती किए जाने के बाद यह घटना हुई। इस हमले में मूसेवाला के एक चचेरे भाई और एक मित्र भी घायल हो गए, जो मूसेवाला के साथ जीप में यात्रा कर रहे थे। मूसेवाला उन 424 लोगों में शामिल थे, जिनकी सुरक्षा पंजाब पुलिस ने अस्थायी रूप से हटा दी थी या कम कर दी थी।