Top
Pradesh Jagran

उप्र : चित्रकूट जेल के अंदर गैंगवार, दो बदमाशों की हत्या, एनकाउंटर में गैंगस्टर भी ढेर

उप्र : चित्रकूट जेल के अंदर गैंगवार, दो बदमाशों की हत्या, एनकाउंटर में गैंगस्टर भी ढेर
X

चित्रकूट। उत्तर प्रदेश की चित्रकूट जिला जेल में शुक्रवार को दोपहर करीब एक बजे गैंगवार हो गया। जेल में बंद बदमाशों के दो गुट आपस में भिड़ गए। वर्चस्व की इस भिड़ंत में दोनों तरफ से कई राउंड फायरिंग भी हुई। जिसमें दो बदमाशों की मौत हो गई है। इनमें एक बदमाश बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का करीबी था। हत्या करने वाले गैंगस्टर को जेल पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है। जेल के अंदर प्रशासन के आला-अधिकारी मौजूद हैं।

प्रदेश में बागपत जिला जेल में माफिया मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद यह दूसरा बड़ा मामला है। सूत्रों के मुताबिक, हाल में सुल्तानपुर जेल से चित्रकूट जेल में शिफ्ट किए गए पूर्वांचल के बड़े गैंगस्टर अंशु दीक्षित ने शुक्रवार दोपहर में फायरिंग की। इस फायरिंग में चित्रकूट जेल में बंद बदमाशा मुकीम काला और मेराज की मौत हो गई। मुकीम काला पश्चिमी उत्तर प्रदेश का इनामी गैंगस्टर था। वहीं मेराज को बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का करीबी बताया जा रहा है।

अंशु ने हत्या के बाद पांच कैदियों को बनाया था बंधक

चित्रकूट प्रशासन का कहना है कि अंशु दीक्षित ने मुकीम काला और मेराज अली को मारने के बाद पांच कैदियों को बंधक बना लिया था। इस दौरान जेल प्रशासन ने अंशु से कैदियों को छोड़ने की अपील की, लेकिन अंशु माना नहीं। इस दौरान पुलिस और अंशु के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमें अंशु मारा गया। फिलहाल जेल में चेकिंग अभियान चल रहा है।'

कुछ दिनों पहले ही ट्रांसफर होकर आए थे तीनों बदमाश

बताया जा रहा है कि अंशुल दीक्षित पुत्र जगदीश सुलतानपुर की जेल से, मुकीम बनारस जिला जेल से और मेराज अली को कुछ दिन पहले ही चित्रकूट की जेल में ट्रांसफर किया गया था।

Next Story
Share it