Thursday , June 4 2020
Home / लाइफस्टाइल / फैमिली / जानिए कब तक जिंदा रहता है COVID-19 का वायरस, कैसे करता है दूसरों को संक्रमित

जानिए कब तक जिंदा रहता है COVID-19 का वायरस, कैसे करता है दूसरों को संक्रमित

दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है इसके चलते हर किसी को सावधानी बरतने के निर्देश समय समय पर सरकार द्वारा जारी किये जा रहे है इसी बीच विशेषज्ञों ने ये साफ कर दिया है संक्रमित व्यक्ति द्वारा छुई हुई वस्तु से संक्रमण फैलने का खतरा बहुत ही कम होता है।

इसलिए इससे घबराने की जरूरत नहीं है। कोरोना वायरस का डर इतना ज्यादा फैल गया है कि लोगों को अपनी रोजमर्रा की चीजों को छूने में भी डर सताने लगा है। इन चीजों में पानी का बोतल सहित तमाम वो चीजें हैं, जो हम रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल करते हैं। लिफ्ट का बटन छूना चाहिए या नहीं ऐसे कई सवाल लोगों के मन में उठ रहे हैं। इन्हीं सवालों के कुछ जबाव हम लेकर आए हैं। चलिए जानते हैं कोरोना वायरस के बारे में कुछ अहम बातें-

अनेक वैज्ञानिक विश्व भर से इस विषय में रिसर्च कर रहे है और एक रिसर्च में ये बात सामने आयी है कि कोरोना वायरस इंसान के शरीर के अंदर और बाहर कितने समय तक जिंदा रह सकता है। उन्होंने शुरुआती जांच में पाया कि वायरस तीन दिन तक प्लास्टिक के ऊपर जिंदा रह सकता है। इसका ये मतलब नहीं कि इससे आप संक्रमित हो जाएंगे। इसके अलावा शोधकर्ता ने और भी कई चीजों पर शोध किया जो निम्न है

प्लास्टिक और स्टील पर तीन दिन तक जिंदा रहता है कोरोना 

प्लास्टिक और स्टील की चीजों पर तीन दिन तक जिंदा रह सकता कोरोना वायरस जबकि गत्ते जैसी चीजों पर 24 घंटे तक जिंदा रह सकता है कोरोना वायरस वही किसी अन्य वस्तु पर वायरस फैलने की संभावना काफी कम होती है।

इसके अलावा ये भी जान ले की कोरोना वायरस कब और किन परिस्थितियों में ज्यादा फैलता है , आम तौर पर ये माना गया है की संक्रमित व्यक्ति के छींकने या खांसने के दौरान उसकी नम की बूंदे किसी अन्य शख्स के ऊपर जाने से संक्रमण फैलने का खतरा काफी ज्यादा रहता है।

इसलिए जब भी कोई व्यक्ति बीमार दिखे, तो उससे 6 फीट की दूरी बना लें। इसके अलावा आप किसी ऐसी चीजों के संपर्क में आएं, जिसपर संक्रमित व्यक्ति के छींक और खांसी के नम की बूंद पड़ी हो। क्योंकि उन चीजों पर वायरस 10 मिनट से लेकर दो घंटे तक जिंदा रहता है। लेकिन याद रखें कि महज छू लेने से ये आपके शरीर के अंदर नहीं जाती। बल्कि जब आप उन्हीं हाथों से अपने नाक, मुंह और चेहरे को छूते हैं, तब ये आपके शरीर के अंदर जाती है।

TwitterFacebookLinkedInWhatsAppEmailTumblr
Loading...

Check Also

विश्व साइकिल दिवस : कोरोना के बीच साइकिलिंग से भी होती है सोशल डिस्टेंसिंग

संयुक्त राष्ट्र महासभा की घोषणा के अनुसार साइकिल की विशेषता और बहुमुखी प्रतिभा को पहचानने …

TwitterFacebookLinkedInWhatsAppEmailTumblr

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com