Top
Pradesh Jagran

दिल्ली में फिर तेज हवाओं के साथ शुरु हुई बारिश, जानें अपने राज्य का हाल

दिल्ली में फिर तेज हवाओं के साथ शुरु हुई बारिश, जानें अपने राज्य का हाल
X

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार से शुरू हुआ बारिश और तेज हवाओं का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी है। रुक-रुककर बारिश होने के साथ तेज हवाएं चल रही हैं। हवा में ठंडक भी है।

सुबह एकबार फिर कई इलाकों में गरज के साथ मूसलाधार बरसात की शुरुआत हुई। बुधवार देर शाम तक राष्ट्रीय राजधानी में ताऊ ते तूफान का असर लगभग खत्म हो गया था और हवाओं ने उत्तर की तरफ रुख कर लिया था। लेकिन शुक्रवार सुबह एकबार फिर तूफान का असर दिखने लगा।

स्काइमेट से मिले आंकड़ों के अनुसार पहले ही दिल्ली-एनसीआर मे 20 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने और राजधानी के साछ ही आसपास के इलाकों में गरज के साथ बारिश का अनुमान जाहिर किया गया था। जिसके चलते पालम में भी 5 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। इसी तरह आज भी दिल्ली और इसके आसपास के सटे क्षेत्रों जैसे नोएडा, गुरुग्राम, गाजियाबाद और फरीदाबाद में बारिश की संभावना है। हालांकि यह बारिश लंबे समय तक जारी नहीं रहेगी और उम्मीद करते हैं कि अगले 24 घंटों के बाद मौसम जल्द ही शुष्क हो जाएगा। मौसम साफ होने के बाद उत्तर से ठंडी और शुष्क हवाएँ चलनी शुरू होंगी जिससे न्यूनतम तापमान में 4 से 5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट होने की संभावना है।

उल्लेखनीय है कि चक्रवात ताऊ ते का असर दिल्ली में बुधवार रात तक पूरी तरह पहुंच गया था। जिसके चलते राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में व्यापक बारिश देखने को मिली थी।मई महीने में इतनी ज्यादा बारिश सालों पहले हुई थी। लगातार हो रही बरसात के चलते दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से 16 डिग्री कम रहा जो पिछले 70 वर्षों में सबसे कम है। आपको बता दें कि अभी दिल्ली का तापमान और गिरेगा क्योंकि शुक्रवार को भी ताउते का असर दिख रहा है। आज भी सुबह से बारिश हो रही है जिसके चलते कई जगहों पर जलभराव हो गया है।

इन राज्यों में ऐसा रहेगा मौसम

मौसम विभाग के मुताबिक, 21 मई को बिहार, कोलकाता, चंडीगढ़, हरियाणा, जम्मू कश्मीर के कई इलाकों में बारिश हो सकती है। जबकि दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़, ओडिशा और मध्य प्रदेश में मौसम के साफ रहने की उम्मीद जताई गई है।

मौसम विभाग के मुताबिक, अगर 31 मई तक मॉनसून केरल में आता है तो फिर महाराष्ट्र के कोकण क्षेत्र में 8 से 10 जून तक मॉनसून की दस्तक हो सकती है। जबकि अगले दो सप्ताह में पूरे प्रदेश में सक्रिय होने की संभावना है।

जल्द होगी सुपर साइक्लोन की दस्तक

अभी जहां तौकते के कहर से देश उभर भी नहीं पाया है कि भारत में दूसरे सुपर साइक्लोन की दस्तक होने वाली है। बताया गया है कि बंगाल की खाड़ी में सुपर साइक्लोन यश के आने की संभावना है।

मौसम विभाग की मानें तो इस तूफान की वजह से बंगाल की खाड़ी की ओर आने वाले मॉनसून के बादल जल्द ही दस्तक दे सकते हैं। मौसम विभाग ने कहा कि संभव है कि यह चक्रवाती तूफान 26 मई की सुबह उत्तरी बंगाल की खाड़ी में ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तट पर पहुंचे।

Next Story
Share it